छ्वन्रूस्॥श्वष्ठक्कक्त्र: जेवियर स्कूल ऑफ मैनेजमेंट- एक्सएलआरआइ के 63वें कॉन्वोकेशन का आयोजन शनिवार को संस्थान परिसर स्थित टाटा आडिटोरियम में किया गया. बतौर मुख्य अतिथि आमंत्रित अनु आगा को इस वर्ष का सर जहांगीर घांदी अवार्ड फोर इंडस्ट्रियल एंड सोशल पीस प्रदान किया गया. खास बात यह रही कि 2018-19 के लिए एकेडमिक एक्सीलेंस मेडल में छात्राओं का दबदबा रहा. बेस्ट ऑलराउंड स्टूडेंट का अवार्ड व सेकेंड हाइएस्ट सीक्यूपीआइ मेडल गुनिका बहल को दिया गया तो बेस्ट ऑलराउंड वीमेन स्टूडेंट अवार्ड व बेस्ट सीक्यूपीआइ मेडल से परिष्मिता बासु को नवाजा गया. आउटस्टैंडिंग एफपीएम स्टूडेंट सी शबाना जनानी को प्रदान किया गया. वहीं बिजनेस मैनेजमेंट के लिए हाइएस्ट सीक्यूपीआइ मेडल भी छात्रा वर्षा बोडांडा को मिला. इसके अलावा बिजनेस मैनेजमेंट में हाइएस्ट सीक्यूपीआइ जिया अहमद, सेकेंड हाइएस्ट सीक्यूपीआइ मेडल प्रतीक अग्रवाल व जेनरल मैनेजमेंट प्रोग्राम के लिए यह मेडल वी रवि को मिला.

कॉन्वोकेशन में 518 छात्र-छात्रओं को प्रमाणपत्र व मेडल प्रदान किए गए. इसमें पोस्ट ग्रेजुएट प्रोग्राम इन मैनेजमेंट के 182, ह्यूमन रिसोर्स मैनेजेंट के 179 छात्रों के अलावा पीजीडीएम जेनरल मैनेजमेंट के 109, फेलो प्रोग्राम इन मैनेजमेंट के 11 व पीजीडीएम-बीएम 2016-19 इवनिंग बैच के 37 छात्र-छात्राएं शामिल रहीं.

रिस्पांसिबल लीडर बनें

एक्सएलआरआइ के निदेशक फादर ई अब्राहम ने कहा कि कॉन्वोकेशन हर छात्र के शैक्षिक सफर का महत्वपूर्ण आयोजन है. यह वर्ष संस्थान के लिए इस मायने में भी काफी अहम है क्योंकि हम संस्थान के 70 साल पूरे होने को सेलेब्रेट कर रहे हैं. उन्होंने छात्रों को सलाह दी कि संस्थान में सीखे गए मूल्यों को कायम रखते हुए समाज में एक रिस्पांसिबल लीडर की भूमिका निभाएं.

मिशन में जुटा है संस्थान

इस अवसर पर एक्सएलआरआइ बोर्ड ऑफ गवर्नर्स के चेयरमैन व टाटा स्टील के प्रबंध निदेशक टीवी नरेंद्रन ने कहा कि पिछले छह दशक से यह संस्थान विभिन्न प्रबंधन पाठ्यक्रमों में विश्वस्तरीय शिक्षा प्रदान करने के मिशन में जुटा हुआ है. आज सबसे बड़े देश व्यवसाय जगत की दिशा तय करने में अहम भूमिका निभा रहे हैं. इनोवेशन व तकनीक के क्षेत्र में पिछले बीस वर्ष में जो चीन ने किया है उससे सीखने की जरूरत है. वर्ष 2100 में देशों की आबादी, वहां की जरूरतें और व्यावसायिक माहौल के हिसाब से ढालने की जरूरत है.

Posted By: Kishor Kumar

inext-banner
inext-banner