- आई नेक्स्ट के हेल्पलाइन नंबर पर रोजाना पब्लिक शेयर कर रही है अपनी-अपनी प्रॉब्लम

- सबसे ज्यादा कम्प्लेंट्स वोटर लिस्ट में नाम दर्ज नहीं होने और वोटर आईडी कार्ड डिलीवर नहीं होने की

- इलेक्शन ऑफिसर्स ने बताई वजह, कहा- गलत ढंग से फॉर्म भरने या कुछ जरूरी कॉलम छोड़ने पर रिजेक्ट कर दिये जाते हैं आवेदन

kanpur@inext.co.in

KANPUR : कई बार आवेदन के बावजूद वोटर का नाम वोटर लिस्ट में दर्ज नहीं होना कानपुर में एक बड़ी समस्या बनकर सामने आया है. आई नेक्स्ट के हेल्पलाइन नंबर और व्हाट्स-एप पर दर्जनों कॉलर्स से सबसे ज्यादा यही प्रॉब्लम शेयर की है. आई नेक्स्ट ने पब्लिक की इस एक प्रॉब्लम को इलेक्शन ऑफिसर आरएन बाजपेई से खास तौर पर डिस्कस किया. इस सवाल का जो जवाब मिला वो काफी अहम है.

फिलअप करने में मिस्टेक

वोटर बनने के लिए फॉर्म-6 भरकर आवेदन किया जाता है. मगर, एप्लाई करने के बावजूद ज्यादातर लोग वोटर नहीं बन पाते. डिप्टी इलेक्शन ऑफिसर आरएन बाजपेई के मुताबिक यह समस्या इसलिए आ रही है. क्योंकि लोग फॉर्म को पूरा फिल नहीं करते. या अगर भरते भी हैं तो कई गलतियां कर देते हैं. ऐसे फॉ‌र्म्स को एंटरटेन नहीं किया जाता. इन्हें रिजेक्शन की लिस्ट में डाल दिया जाता है.

फिर अपना फीडबैक भी लीजिए..

कुछ समय पहले तक जितने लोगों के फॉर्म रिजेक्ट किये जाते थे. चुनाव आयोग की तरफ से उसका फीडबैक एप्लीकेंट को नहीं दिया जाता था. डिजिटली अपग्रेड होने के बाद आयोग ने पब्लिक को फीडबैक देने की व्यवस्था भी शुरू की है. मगर, यह अभी तक ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पर ही अवेलेबल है. इलेक्शन ऑफिसर के मुताबिक 'नो योर एप्लीकेशन स्टेटस' इस ऑप्शन के जरिए लोग फॉर्म रिजेक्ट होने की वजह जान सकते हैं.

दोबारा करें एप्लाई

ऐसे लोग जिन्होंने काफी समय पहले एप्लाई करा हुआ है, लेकिन अब तक वोटर आईडी बनकर नहीं मिल सका है और ना ही वोटर लिस्ट में नाम दर्ज है. तो इसका सीधा सा मतलब यह है कि गलत एंट्रीज या कुछ कॉलम खाली छोड़े जाने की वजह से फॉर्म-6 रिजेक्ट कर दिया गया है. ऐसे आवेदक नये सिरे से फॉर्म-6 भरकर आवेदन करें. ये फॉर्म कलक्ट्रेट स्थित चुनाव ऑफिस में उपलब्ध हैं. नेट फ्रेंडली यूजर्स www.ceouttarpradesh.nic.in पर लॉग-इन करके भी आवेदन कर सकते हैं.

-

इन कॉल्म्स को जरूर भरें..

फॉर्म-6 में इन कॉलम एंट्रीज को जरूर फिलअप करें. इन्हें ब्लैंक यानि खाली मत छोड़ें. ऐसा करने पर आपका फॉर्म रिजेक्ट हो सकता है.

- एप्लीकेंट का नाम

- सेक्स : मेल-फीमेल

- विलेज-टाउन

- एप्लीकेंट रिलेशन टाइप

- नेम

- डेट ऑफ बर्थ

- हाउस नंबर

- स्ट्रीट, एरिया, लोकेलिटी, मोहल्ला, रोड

- टाउन-विलेज

- मोबाइल नंबर

- पिन कोड

- डिक्लेरेशन ((iv)

- ((ii) i am ordinary resident at the adress given in para (ii) above since [DD/MM/YYYY]

(v) voter photo id card - voters photo id choose (Yes/No)

-

व्हाट्स-एप क्वेरीज

सवाल : सर, मैं तीन साल पहले आवेदन कर चुका हूं. मगर, वोटर लिस्ट में नाम नहीं है. क्या करूं? -मनोज कुमार शर्मा, देहली सुजानपुर

जवाब : आपका फॉर्म सेलेक्ट नहीं हुआ है. इसलिए कलक्ट्रेट (डीएम ऑफिस) जाकर फॉर्म-म् नये सिरे से भरकर जमा करें.

सवाल : मैंने फॉर्म-म् ऑनलाइन भरा था. लेकिन अब तक वोटर कार्ड रिसीव नहीं हुआ है. - पल्लव श्रीवास्तव

जवाब : इंतजार कीजिए. जिनका नाम वोटर लिस्ट में जुड़ा है. उन्हें बीएलओज घर-घर वोटर आईडी डिलीवर कर रहे हैं. जिनके पास कार्ड नहीं पहुंच सकेंगे. उन्हें बाई पोस्ट भेजा जा रहा है.

सवाल : मैंने नवंबर-ख्0क्फ् में वोटर आईडी कार्ड के लिए एप्लाई किया था. वोटर लिस्ट में नाम नहीं है, ना ही वोटर कार्ड रिसीव नहीं हुआ है. - नीतीश बख्शी,

जवाब : यह फॉर्म रिजेक्शन का केस लग रहा है. आप डीएम ऑफिस में कॉन्टैक्ट करें. हो सकता है कुछ एंट्रीज खाली छोड़ने की वजह से फॉर्म रिजेक्ट हो गया हो.

सवाल : मेरा नाम तो वोटर लिस्ट में दर्ज हो गया है, लेकिन वोटर आईडी में मेरे और पापा के नाम की स्पेलिंग गलत है. इसे कैसे सुधार सकते हैं? - राजीव कुशवाहा

जवाब : नाम-पते, एज में करेक्शन का काम चल रहा है. आप फॉर्म-8 भरें. ऑनलाइन या इलेक्शन ऑफिस जाकर.

------------------------------------------

इलेक्शन ऑफिसर वर्जन

जिन लोगों के नाम लिस्ट में नहीं दर्ज हो सके हैं. उनके लिए नाम जुड़वाने का आखिरी मौका है. लोकसभा चुनाव से क्0 दिन पहले तक वोटर लिस्ट में नाम जुड़वाया जा सकता है.

- आरएन बाजपेई, डिप्टी इलेक्शन ऑफिसर