लाहौर (एपी)। पाकिस्तान में लड़कियों की तस्करी जोरों से चल रही है। पाकिस्तानी अधिकारियों ने देश के गरीब और कमजोर लोगों का शोषण करने वाले ट्रैफिकिंग नेटवर्क पर लगाम कसने के लिए पाकिस्तान से चीन भेजी गईं लड़कियों की एक सूची तैयार की है। उसमें बताया गया है कि 2018 से लेकर अब तक 629 पाकिस्तानी लड़कियों को 'दुल्हन' के रूप में चीनी नागरिकों को बेच दिया गया और उन्हें चीन भी पहुंचा दिया गया। बता दें कि चीन के साथ अपने गहरे संबंधों के चलते पाकिस्तान लड़कियों की तस्करी में शामिल नेटवर्क पर लगाम कसने में सक्षम नहीं हो पा रहा है।

चीन के साथ गहरे संबंधों के चलते कार्रवाई नहीं कर पा रहा है पाकिस्तान

पाकिस्तानी जांच एजेंसियां लड़कियों की तस्करी करने वाले नेटवर्कों को खत्म करने में जुटी हैं लेकिन सरकार के दबाव के चलते कोई सख्त कदम नहीं उठा पा रही हैं। दरअसल, पाकिस्तान सरकार को डर है कि इस कार्रवाई से चीन के साथ दोस्ताना संबंधों को नुकसान पहुंच सकता है। चीन ने पाकिस्तान में भारी निवेश किया है। यही कारण है कि मानव तस्करी में पकड़े गए 31 चीनी नागरिकों को अक्टूबर में फैसलाबाद की एक अदालत से बरी कर दिया गया। अदालत के एक अधिकारी और एक जांचकर्ता ने बताया कि पुलिस के सामने बेबाकी से बोलने वाली कई पीड़ित लड़कियों ने बाद में अदालत में बयान देने से इनकार कर किया क्योंकि उन्हें धमकाया गया था या पैसे देकर चुप करा दिया गया था।

चलती कार में पकड़ा देह व्यापार, 7 आरोपी गिरफ्तार कर 6 लड़कियों को छुड़ाया

झूठे सपने दिखाकर गंदे कामों की तरफ धकेला

इस साल मई में कुछ मीडिया रिपोर्टों में बताया गया कि दुल्हन बनाकर सैकड़ों पाकिस्तानी लड़कियों को चीन ले जाया गया। इनमें से कई को झूठे सपने दिखाए गए थे। जब शादी के बाद वह चीन पहुंचीं तो उन्हें गंदे कामों की तरफ धकेल दिया गया। इसके अलावा यह भी बताया जाता है कि चीनी नागरिकों से शादी कर चीन गई कई पाकिस्तानी युवतियों को मजबूरन बार और क्लब में काम करना पड़ता है।

Posted By: Mukul Kumar

International News inextlive from World News Desk