JAMSHEDPUR: स्टील सिटी में डेंगू के मरीजों की संख्या में लगातार इजाफा देखने को मिल रहा है. शुक्रवार को 12 मरीजों में डेंगू की पुष्टि की गई जबकि 15 लोगों का ब्लड सैंपल भेजा गया. अब तक जिले में डेंगू के कुल 65 मरीज मिले हैं. जिसको देखते हुए विभाग ने महामारी घोषित कर कर्मचारियों की छुट्टी अग्रिम डेट तक रद कर दी है. डेंगू से बचाव के लिए विशेष टीम बनाकर लोगों को जागरुक किया जा रहा है. वहीं गंदगी वाले इलाकों में एंटी लार्वा का छिड़काव व फागिंग भी की जा रही है. शुक्रवार को जिन 15 मरीजों का सैंपल लिया गया है, उसकी रिपोर्ट सोमवार तक आने की उम्मीद है. जिले में अब तक 237 लोगों की जांच हुई है, जिसमें 65 लोगों में डेंगू की पुष्टि हुई है.

20 मरीज दूसरे जगहों से लेकर आए डेंगू

पूरे प्रदेश में सबसे अधिक डेंगू का प्रकोप जमशेदपुर में दिख रहा है. इसलिए शहर में विशेष सावधानी बरतने की सलाह दी गई है. जिला मलेरिया पदाधिकारी डॉ. एके लाल ने बताया कि डेंगू को लेकर विभाग दिन-रात जुटा हुआ है. अब तक के आंकड़े पर गौर किया जाए तो डेंगू बाहर के लोगों से जमशेदपुर में फैला है. उन्होंने बताया कि एक रिपोर्ट के अनुसार करीब 20 लोग जो देश के विभिन्न शहरों बैंगलुरु, हैदराबाद, दिल्ली से आए जिनमें संपर्क में रहने के कारण शहर में डेंगू फैला है.

मून सिटी में डेंगू के पांच नए मरीज मिले

डिमना रोड स्थित मून सिटी में डेंगू मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही हैं. अबतक एक दर्जन से अधिक लोग डेंगू की चपेट में आ चुके है. शुक्रवार को भी पांच नए मरीजों में डेंगू की पुष्टि हुई. इसमें शेखर सुमन (34), गुंजन सिंह (30), ममता पोद्दार (35), दिलीप मिश्रा (43), रेखा शर्मा (37) शामिल है. इससे पूर्व भी सात लोगों में डेंगू की पुष्टि हुई थी. इसके बाद स्वास्थ्य विभाग की टीम ने वहां जाकर मरीजों की जांच, एंटी लार्वा का छिड़काव व फागिंग किया था. मून सिटी परिसर के गार्डन में एक गढ़ा खोदकर छोड़ दिया गया है, जिसमें पानी का जमाव हो रहा है. यहां से डेंगू का लार्वा पाया गया है.