-डीएम और एसएसपी पहुंचे दालमंडी, मचा हड़कंप

-नई सड़क, चेतगंज, गोदौलिया में हटवाया एनक्रोचमेंट

-दुकानदारों पर की कार्रवाई, जुर्माना वसूला

-बोले, दोबारा गंदगी करने वालों पर होगा एफआईआर

varanasi@inext.co.in

VARANASI

बनारस को 'स्मार्ट' बनाने के लिए डीएम सुरेन्द्र सिंह ने पटरियों पर किये गए अतिक्रमण और गंदगी के खिलाफ अभियान छेड़ दिया है. डीएम ने शनिवार को अतिक्रमण और पॉलीथिन का यूज करने वालों और दुकानों का कूड़ा फेंकने वालों के खिलाफ कार्रवाई की. उन्होंने कहा कि जुर्माना भरने के बाद फिर गंदगी करने वालों पर अब एफआईआर होगी. प्रतिबंधित पॉलीथिन बेचने वालों की जानकारी देने वालों को दस हजार का ईनाम दिया जाएगा. दालमंडी, चेतगंज, नई सड़क, गोदौलिया व दशाश्वमेध एरिया में सघन अभियान चलाकर दुकानदारों पर कार्रवाई की और जुर्माना वसूला. इस दौरान पॉलीथिन भी जब्त की गई.

डेली एक घंटा चलाएं अभियान

डीएम ने नगर निगम के अफसरों को निर्देश दिया कि डेली एक घंटा सम्बंधित थाने की पुलिस के साथ सघन अभियान चलाएं. अपने एरिया में पॉलीथिन व पटरियों पर अतिक्रमण करने वालों पर सख्त कार्रवाई करें. इसकी प्रतिदिन रिपोर्ट भी उन्हें भेजें.

दालमंडी में डीएम के सख्त तेवर

व्यस्ततम मार्केट दालमंडी की गलियों में एनक्रोचमेंट देख डीएम सुरेन्द्र सिंह का पारा चढ़ गया. डीएम ने सख्त लहजे में कहा कि इन दुकानदारों से 20 लाख रुपये जुर्माना वसूलो. इन्होंने अतिक्रमण कर इस एरिया की सूरत बिगाड़ दी है. डीएम के दालमंडी पहुंचते ही हड़कम्प मच गया. तमाम दुकानदारों ने बाहर रखे सामान तत्काल भीतर रख लिए. फिर भी डीएम ने दर्जनों दुकानदारों पर कारर्1वाई की.

पटरियां चलने के लिए हैं: डीएम

अभियान के दौरान डीएम ने कहा कि रोड्स की पटरियां लोगों के चलने के लिए हैं, दुकानें लगाने के लिए नहीं. इसमें कोई बाधा डालेगा तो कार्रवाई तय है. इसी तरह प्रतिबंधित पॉलीथिन का यूज करने वालों पर पांच से 50 हजार तक जुर्माना लगाया जाएगा. अगर जुर्माना देने के बाद उक्त दुकानदार फिर ऐसा करता है तो उस पर केस दर्ज होगा.

एक नजर

- 1.5 लाख जुर्माना वसूला

- 01 पटरी दुकानदार का चालान

- 30 दुकानदारों पर हुई कार्रवाई