features@inext.co.in  

KANPUR: आलोक नाथ द्वारा विंता नंदा पर दर्ज कराए गए मानहानि के मामले में सुनवाई करते हुए आलोक नाथ की कोर्ट में गैर मौजूदगी पर नाराजगी जाहिर करते हुए कोर्ट ने अंतरिम आदेश देने से मना कर दिया। कोर्ट ने आलोक नाथ पर दुष्कर्म और यौन उत्पीडऩ का आरोप लगाने वाली विंता नंदा को सोशल मीडिया का यूज करके उनके खिलाफ टिप्पणी करने को भी अलाउ कर दिया है। मी टू में नाम सामने आने के बाद आलोक और उनकी पत्नी ने विंता नंदा के खिलाफ मानहानि का केस किया था।

#metoo इस वजह से आलोक नाथ को पडी़ कोर्ट की फटकार,अगली सुनवाई होगी इस दिन

See Also

अगली सुनवाई 25 अक्टूबर को

आलोक नाथ के मानहानि के मामले की सुनवाई के दौरान कोर्ट ने उनके वकील से कहा कि दायर किए गए मुकदमे में तकनीकी दिक्कतें हैं और इनमें जरूरी सुधार किया जाना चाहिए। आलोक के वकील ने कोर्ट में कहा कि उन्हें अदालत में हाजिर होने से छूट दी जानी चाहिए। डिफेंस के वकील ने इस पर ऑब्जेक्शन किया और कहा कि वह मेन व्यक्ति हैं और उनका हाजिर होना जरूरी है।

#metoo इस वजह से आलोक नाथ को पडी़ कोर्ट की फटकार,अगली सुनवाई होगी इस दिन

19 साल बाद उठा हैरेसमेंट का मामला

कोर्ट ने भी आलोक नाथ के हाजिर न रहने पर नाराजगी जाहिर की और 25 अक्टूबर को होने वाली अगली सुनवाई के दौरान उनको हाजिर रहने का निर्देश दिया। राइटर, प्रोड्यूसर विंता नंदा ने बुधवार को 19 साल बाद दुष्कर्म और यौन उत्पीडऩ करने के मामले में आलोकनाथ के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई थी। इसके पहले आलोक उनके खिलाफ मानहानि का मुकदमा दर्ज करा चुके थे।

#MeToo को स्टार ने लगाया हैरेसमेंट का आरोप, तो सुशांत सिंह ने पर्सनल चैट वायरल कर ऐसे दिया जवाब

'मी टू' पर चालू है बॉलीवुड में घमासान, आरोपों के चलते अब तक रुकी इतनी फिल्मों की शूटिंग

Bollywood News inextlive from Bollywood News Desk