कानपुर। देश एक बार फिर लोकपाल बिल का मामला चर्चा में आ रहा है। अन्ना हजारे इसको लेकर एक बार फिर से अनशन की तैयारी में है। वह केंद्र सरकार को लेकर मायूसी महसूस कर रहे है। अन्ना हजारे का कहना है कि जब साल 2104 में मोदी सरकार सत्ता में आई थी उस समय उन्हें महसूस हुआ था कि अब सब अच्छा होगा। इसके साथ ही उनकी लोकपाल और लोकायुक्त की नियुक्ति की मांग पूरी होगी।

केंद्र सरकार से नाराज अन्ना हजारे 30 जनवरी से करेंगे भूख हड़ताल

रालेगण सिद्धि में 30 जनवरी से अनशन शुरू

हालांकि केंद्र सरकार ने बीते 5 साल में इसके लिए कुछ नहीं किया। ऐसे में अब वह फिर से अनशन करने जा रहे हैं। अन्ना हजारे का कहना है कि वह अब अपने गांव महाराष्ट्र के रालेगण सिद्धि में 30 जनवरी से अनशन शुरू करेंगे। खबरों की मानें तो कुछ दिन पहले अन्ना हजारे ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर लोकायुक्त नियुक्त करने की मांग की थी लेकिन फिलहाल इस दिशा में अभी तक कुछ नहीं किया गया।

भ्रष्टाचार से लड़ रहे अन्ना हजारे ने 53 साल पहले लड़ी थी जंग जिसमें हारा पाकिस्तान

Posted By: Shweta Mishra

National News inextlive from India News Desk