- सीएम व केंद्रीय जल शक्ति मंत्री ने किया गंगोत्री में स्वामी सुंदरानंद की तपोवन हिरण्यगर्भ आर्ट गैलरी का लोकार्पण

- स्वामी सुंदरानंद ने आर्ट गैलरी को आरएसएस की सुपुर्दगी में दिया

GANGOTRI: गंगोत्री धाम में तपोवन हिरण्यगर्भ आर्ट गैलरी एवं योग-ध्यान केंद्र (हिमालय तीर्थ) का फ्राइडे को सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत और केंद्रीय जल शक्ति मंत्री गजेंद्र शेखावत ने लोकार्पण किया. हिमालय के प्रसिद्ध फोटोग्राफर एवं सन्यासी स्वामी सुंदरानंद ने इस आर्ट गैलरी एवं योग-ध्यान केंद्र को तैयार किया है. यहां हिमालय की कंदराओं से लेकर चोटियों, घाटियों, सांस्कृतिक परिदृश्य एवं पौराणिक लोकजीवन को जीवंत करती एक हजार तस्वीरें लगाई गई हैं. आर्ट गैलरी को स्वामी सुंदरानंद ने आरएसएस की सुपुर्दगी में दे दिया है.

तस्वीरें देखकर गदगद हुए सीएम

आर्ट गैलरी की एक-एक तस्वीर का अवलोकन करने के बाद सीएम ने कहा कि आर्ट गैलरी में गंगोत्री घाटी में 72 साल के दौरान आए बदलावों की झांकी प्रदर्शित हुई है. स्वामी सुंदरानंद ने इस आर्ट गैलरी के रूप में विश्व को एक अनमोल धरोहर सौंपी है. जो अध्ययन केंद्र के रूप में सदियों तक दुनिया के पर्वतारोहियों एवं प्रकृति प्रेमियों का मार्गदर्शन करती रहेगी. केंद्रीय जल शक्ति मंत्री गजेंद्र शेखावत ने कहा कि स्वामी सुंदरानंद ने एक ही स्थान पर हिमालय के दिव्य दर्शन कराकर उल्लेखनीय एवं अनूठा कार्य किया है. उन्होंने गंगा की स्वच्छता के लिए जनभागीदारी की अपील की. आर्ट गैलरी की ट्रस्टी यूएसए निवासी डेबरा उर्फ दयामयी ने कहा कि वह वर्ष 2003 में स्वामी सुंदरानंद से मिली थीं. तब से योग-ध्यान के जरिये उनसे एक आध्यात्मिक रिश्ता जुड़ गया. राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के सह सर कार्यवाह सुरेश सोनी ने कहा कि स्वामी सुंदरानंद ने अपना पूरा जीवन समाज को समर्पित कर दिया. उनकी यह धरोहर पर्वतारोहियों के लिए हमेशा प्रेरणा का स्त्रोत बनी रहेगी. कार्यक्रम में संघ के सह कार्यवाह दत्तात्रेय होसबोले, यूएसए के स्वामी सच्चिदानंद, उच्च शिक्षा राज्य मंत्री डॉ. धन सिंह रावत, विधायक गोपाल सिंह रावत, नेहरू पर्वतारोहण संस्थान (निम) के पूर्व प्रधानाचार्य कर्नल अजय कोठियाल, डॉ. अशोक लूथरा, अनिल नौटियाल, कमल जोशी आदि मौजूद रहे.

स्वामी सुंदरानंद ने बेड से ही किया संबोधन

बीते चार दिनों से अस्वस्थ होने के बाद भी स्वामी सुंदरानंद ने आर्ट गैलरी के लोकार्पण समारोह में पांच मिनट तक बेड से ही अपना संबोधन दिया. कहा कि आर्ट गैलरी के रूप में उन्होंने प्रकृति में ईश्वर की तलाश की है. उन्होंने गंगोत्री धाम आए अपने अनुयायियों और अतिथियों का भी आभार जताया.

सीएम व केंद्रीय मंत्री ने की गंगा पूजा

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत व केंद्रीय जल शक्ति मंत्री गजेंद्र शेखावात ने गंगा पूजा के साथ गंगोत्री मंदिर में भी पूजा-अर्चना की. इसके बाद उन्होंने उत्तरकाशी जिले की दो दर्जन योजनाओं का शिलान्यास एवं लोकार्पण भी किया.