- सूचना के बाद भी नहीं पहुंची वन विभाग की टीम, ग्रामीणों में आक्रोश

GOPESHWAR: जंगल में मवेशियों के लिए चारापत्ती लेने गई महिला पर भालुओं के झुंड ने हमला कर दिया। ग्रामीणों के शोर मचाने पर भालू महिला को घसीटते हुए खड़ी चट्टान पर ले गए, जहां महिला को मार दिया। एसडीआरएफ ने रेस्क्यू कर महिला के शव को निकाला। सूचना के बाद भी वन विभाग की टीम के मौके पर नहीं पहुंचने से ग्रामीणों में आक्रोश है।

महिला को चट्टान पर ले गए भालू

जानकारी के अनुसार दशोली विकासखंड के स्यूंण गांव की धनेश्वरी देवी (35) पत्नी महेंद्र सिंह राणा मवेशियों के लिए चारापत्ती लेने के लिए जंगल में गई हुई थी। इस दौरान झाडि़यों में छिपे तीन से अधिक भालुओं ने महिला पर हमला कर घायल कर दिया। नजदीक की अन्य महिलाओं ने जब चीख पुकार सुनी तो उन्होंने भालुओं को भगाने के लिए पत्थर फेंके और शोर मचाया, लेकिन भालू महिला को उठाकर खड़ी चट्टान पर ले गए। जहां भालुओं ने महिला को मार दिया। महिलाओं की आवाज सुनकर ग्रामीण भी मौके पर पहुंचे। खड़ी चट्टान होने के कारण ग्रामीण महिला तक नहीं पहुंच पाए। ग्रामीणों का कहना है कि वन विभाग को फोन से घटना की जानकारी दी गई, लेकिन विभाग का कोई भी कर्मचारी मौके पर नहीं पहुंचा। ग्रामीणों ने एसडीएम को मामले की जानकारी दी। जिसके बाद एसडीआरएफ की टीम ने मौके पर पहुंचकर ग्रामीणों की मदद से रस्सियों के सहारे महिला के शव को चट्टान से निकाला। ग्रामीणों ने वन विभाग पर लापरवाही का आरोप लगाया।

Posted By: Inextlive

inext-banner
inext-banner