- जेटिंग व स्वीपिंग मशीन से भी हो रही सड़कों की सफाई

- निर्माणाधीन इमारत को ग्रीन जियो फैब्रिक से घेरने के निर्देश

- सड़कों पर निर्माण सामग्री गिराने वालों से जुर्माना वसूलने को कहा गया

- प्रतिबंधित पॉलीथिन कैरीबैग का इस्तेमाल करने वालों पर भी फाइन

patna@inext.co.in

PATNA : प्रदूषण से निपटने के लिए पटना नगर निगम कई उपाय कर रहा है. इनमें सड़कों पर पानी का छिड़काव करना भी शामिल है. नगर आयुक्त अमित कुमार पांडेय के निर्देश पर निगम मुख्यालय ने सभी छह अंचलों- बांकीपुर, पाटलिपुत्र, नूतन, कंकड़बाग, पटना सिटी और अजीमाबाद को दो-दो वाटर टैंकर उपलब्ध कराए हैं. आटसोर्सिग पर ट्रैक्टर लेकर रोस्टरवार राजधानी की सड़कों पर पानी का छिड़काव करने के निर्देश नगर आयुक्त ने दिए हैं. इसके अलावा सभी अंचलों में मौजूद जेटिंग मशीन और स्वीपिंग मशीन से भी सड़कों की साफ-सफाई की जा रही है ताकि धूलकण हवा में समाकर उसे प्रदूषित नहीं करें. प्रदूषण से बचने के लिए इमारत निर्माण के दौरान ग्रीन जियो फैब्रिक से उस एरिया को ढकने के निर्देश दिए गए हैं. ऐसा नहीं करने वालों पर सख्त कार्रवाई करने और जुर्माना वसूलने को कहा गया है. साथ ही सड़कों पर निर्माण सामग्री गिराने वालों से जुर्माना वसूलने के साथ- साथ सामग्री जब्त करने के लिए संबंधित अंचल के अधिकारियों को कहा गया है. निगम क्षेत्र में कचरा जलाने पर भी प्रतिबंध लगा दिया गया है. दरअसल उससे निकलने वाला धुआं जहरीला होता है जो हवा में मिलकर उसे प्रदूषित कर देता है.

नगर आयुक्त अमित कुमार पांडेय ने कहा कि प्रदूषण से निपटने के लिए निगम कई उपाय कर रहा है. प्रतिबंधित पॉलीथिन कैरीबैग का इस्तेमाल करने वालों से जुर्माना वसूला जा रहा है. इसका प्रयोग नहीं करने को लेकर लोगों के बीच जागरुकता फैलाई जा रही है. निगम की गाडि़यों को भी ढककर कचरा ले जाने को कहा गया है. खुले में मांस की बिक्री करने वालों पर कार्रवाई के निर्देश दिए गए हैं.

Posted By: Inextlive