patna@inext.co.in

PATNA: आयुर्वेद विशेषज्ञ डॉ.सुनील कुमार दूबे एवं डॉ.मधुरेंद्र कुमार पांडेय की लड़ाई अब थाने तक पहुंच चुकी है. रविवार को डॉ.दूबे ने पीरबहोर थाना में डॉ.पांडेय पर जान से मारने का आरोप लगाते हुए मुकदमा दर्ज कराया है. इसके पहले डॉ.पांडेय ने डॉ.दूबे के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था. पीरबहोर थाने में दर्ज कराए गए मामले के अनुसार डॉ.दूबे ने आरोप लगाया है कि वे शाम को अपने क्लीनिक में बैठे थे तभी डॉ. पांडेय के परिजन आकर गाली-गलौज करने लगे. डॉ. पांडेय के साथ उनके दोनों लड़के भी थे. आरोप के मुताबिक पिस्टल के बट से उनकी पिटाई की गई और सोने की चेन छीन ली गई. उन्हें क्लीनिक बंद करने के लिए धमकी दी गई. इस बीच क्लीनिक के कर्मचारी जुटने लगे तो सभी भाग खड़े हुए.

पिस्टल के बट से मारा

डॉ. सुनील का कहना है कि मैं अपने चैंबर में बैठा था. इस दौरान आधा दर्जन लोग और आकर मेरे साथ मारपीट करने लगे. मेरे साथ गाली-गलौच करने लगे. मेरा गला दबाकर हत्या करने की कोशिश किए लेकिन मैं किसी तरह से उनके चुंगल से बचा. मैं जब विरोध करने लगा तो जाते-जाते उन लोगों ने पिस्टल के बट से मुझे मार दिया. हल्ला सुनकर जब तक मेरे स्टॉफ आए तब तक ये लोग वहां से भाग गए. बाद मैं थाने पहुंचकर इसकी शिकायत की.