कानपुर। बिहार के समस्तीपुर लोकसभा के उपचुनाव में आज 51 प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला हो गया है। इस सीट पर एनडीए की तरफ से लोजपा के प्रिंस राज और महागठबंधन की ओर से चुनाव लड़ रहे कांग्रेस के अशोक कुमार के बीच कड़ा मुकाबला था। बता दें कि प्रिंस राज, केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान के छोटे भाई रामचंद्र पासवान के बेटे हैं।  रामचंद्र पासवान का कुछ ही दिनों पहले निधन हो गया था। इसी के कारण यह सीट खाली हो गई थी। अन्य उम्मीदवारों में निर्दलीय से सूरज दास, अनामिका पासवान, रंजू देवी, विद्यानंद राम, शशिभूषण दास, निर्दोष कुमार शामिल हैं। इस उपचुनाव को अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव के सेमीफाइनल के रूप में देखा जा रहा है। इस सीट पर एनडीए समर्थित लोजपा के उम्मीदवार प्रिंस राज ने अपने निकटतम प्रत्याशी अशोक कुमार से 102090 वोटों से जीत हासिल की हैं। इस सीट पर प्रिंस को 390276 वोट मिले हैं। वहीं उनके निकटतम उम्मीदवार कांग्रेस के डॉ. अशोक कुमार को 288186 वोट मिले हैं।

रामचंद्र पासवान ने दर्ज की थी जीत

बता दें कि 2019 के लोकसभा चुनाव में इस सीट पर नडीए की तरफ से लोजपा के उम्मीदवार रामचंद्र पासवान ने भारी मतों से जीत हासिल की थी। तब भी उनके खिलाफ महागठबंधन की ओर से कांग्रेस के अशोक कुमार खड़े हुए थे। इसके अलावा रामचंद्र 2014 में भी इस सीट को जीते थे। बता दें कि इस सीट पर लंबे समय तक कांग्रेस का कब्जा रहा है। 1952 से 1971 तक इस सीट पर कांग्रेस ने जीत का परचम लहराया है। 1952, 1957 और 1962 में इस सीट से सत्यनारायण सिन्हा और 1967, 1971 में यमुना प्रसाद मंडल सांसद रहे।

Posted By: Mukul Kumar