कानपुर। 2 दिसंबर 1945 को विक्टोरिया में जन्में एलन थाॅमसन पूर्व ऑस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाज रहे हैं। थाॅमसन आज 74 साल के हो गए मगर आज से पांच दशक पहले उन्होंने एक ऐसा रिकाॅर्ड बनाया था जिसे न कोई तोड़ पाया है और न तोड़ पाएगा। थाॅमसन के नाम वनडे में पहला विकेट लेने का रिकाॅर्ड दर्ज है। दाएं हाथ के इस तेज गेंदबाज ने यह कारनामा साल 1971 में किया था, जब ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड की टीम क्रिकेट इतिहास का पहला एकदिवसीय मैच खेलने के लिए मेलबर्न के मैदान में उतरी थी।

यह थे वनडे में आउट होने वाले पहले बल्लेबाज

पहला वनडे मैच 5 जनवरी 1971 को ऑस्ट्रेलिया के मेलबर्न में खेला गया था। इस मैच में कंगारुओं ने टाॅस जीतकर मेहमानों को बैटिंग का न्यौता दिया। इंग्लैंड की तरफ से जेफ बाॅयकाट और जाॅन एडरिच ओपनिंग करने मैदान में आए। इधर कंगारुओं ने पहली गेंद एलन थाॅमसन के हाथों में थमाई। थाॅमसन का सामना बाॅयकाॅट कर रहे थे। खैर बाॅयकाॅट ने पहली गेंद को डिफेंड किया, इसी के साथ वनडे क्रिकेट की शुरुआत हो गई। इसके बाद करीब पांच-छह ओवर ऐसे ही निकलते गए, फिर एक बार गेंद थाॅमसन के हाथों में थी और उन्होंने बाॅयकाट को कैच आउट कराकर पहला वनडे विकेट अपने नाम किया। इसी के साथ एलन थाॅमसन जहां वनडे में पहला विकेट लेने वाले गेंदबाज बन गए वहीं बाॅयकाट का नाम वनडे में आउट होने वाले पहले बल्लेबाज के रूप में दर्ज हो गया।

सिर्फ एक वनडे खेलकर रचा इतिहास

एलन थाॅमसन ने पहला वनडे विकेट लेकर अपना नाम इतिहास के पन्नों में दर्ज करा लिया, मगर वह उसके बाद कभी एकदिवसीय क्रिकेट नहीं खेल पाए। यह उनके क्रिकेट करियर का पहला और आखिरी वनडे था। क्रिकइन्फो पर उपलब्ध डेटा के मुताबिक, एलन का करियर एक साल से ज्यादा नहीं चला। इस दौरान उन्होंने सिर्फ एक वनडे और चार टेस्ट खेले। टेस्ट में थॅामसन के नाम 12 विकेट दर्ज हैं।

मेंढक की तरह करते थे बाॅलिंग

एलन थाॅमसन का निक नेक फ्राॅगी भी है। यह नाम उन्हें अनोखे बाॅलिंग एक्शन के चलते मिला। दरअसल थॅामसन दाएं हाथ के तेज गेंदबाज थे मगर गेंद फेंकते समय उनका पिछला पैर आगे रहता था। उस वक्त वह किसी मेंढक से कम नहीं लगते थे, ऐसे में साथी खिलाड़ियों ने उन्हें फ्राॅगी नाम दिया।

Posted By: Abhishek Kumar Tiwari

Cricket News inextlive from Cricket News Desk