भाजपा नेताओं ने पुलिस पर लगाया उत्पीड़न का आरोप

दरोगा को सस्पेंड करने की मांग पर अड़े व्यापारी

पार्षद मामले में एसएसपी ने दिया जांच का आश्वासन

Meerut. दरोगा की पिटाई के आरोप में भाजपा पार्षद को जेल भेजना पुलिस को भारी पड़ रहा है. भाजपा पार्षद के पक्ष में संयुक्त व्यापार संघ के सैंकड़ों व्यापारी नेता पुलिस के खिलाफ हो गए हैं. व्यापारियों ने ऐलान किया है कि अगर दो दिन के भीतर पुलिस ने दरोगा को गिरफ्तार करके जेल नहीं भेजा तो गुरुवार को मेरठ बंद कर ि1दया जाएगा.

एसएसपी से मिले

भाजपा पार्षद के पक्ष रविवार दोपहर भाजपा सांसद राजेंद्र अग्रवाल, विधायक सोमेंद्र तोमर, जितेंद्र सतवाई, सत्यप्रकाश अग्रवाल, महानगर अध्यक्ष मुकेश सिंघल, संयुक्त व्यापार संघ के अध्यक्ष नवीन गुप्ता, महामंत्री अरूण वशिष्ठ, उपाध्यक्ष दलजीत सिंह चौधरी समेत काफी संख्या में व्यापारी नेता पुलिस के खिलाफ नारेबाजी करते हुए एसएसपी ऑफिस पहुंचे. उन्होंने एसएसपी अखिलेश कुमार से मुलाकात करते हुए आरोप लगाया कि कंकरखेड़ा पुलिस ने एकतरफा कार्रवाई की है. व्यापारियों का कहा कि अगर पुलिस ने दरोगा व महिला वकील के खिलाफ कार्रवाई नहीं की तो गुरुवार को मेरठ बंद कर दिया जाएगा.

फारेंसिक जांच को भेजी वीडियो

एसएसपी अखिलेश कुमार ने कहा कि मामले की जांच कराई जा रही है. अगर दरोगा जांच में दोषी पाया जाएगा तो उसके खिलाफ भी मुकदमा दर्ज किया जाएगा. दरोगा को फिलहाल लाइनहाजिर कर दिया गया है. एसएसपी अखिलेश कुमार ने बताया कि दरोगा केस के मामले में सोशल मीडिया में सामने आई चारों वीडियो क्लिपिंग फोरेंसिक जांच के लिए भेज दी गई हैं. उसकी रिपोर्ट के आधार पर ही आगे की कार्रवाई की जाएगी.

हटेंगी धारा

भाजपा महानगर अध्यक्ष मुकेश सिंघल ने बताया कि पुलिस का कहना है कि व्यापारी के खिलाफ डकैती जैसी गंभीर धाराएं हटा ली जाएगी. दरोगा व महिला वकील के खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी.

बैठक कर दिया समर्थन

आबूलेन स्थित नवीन होटल में संयुक्त व्यापार संघ के अध्यक्ष नवीन गुप्ता और वरिष्ठ मंत्री गौरव शर्मा ने बैठक कर आगामी रणनीति बनाई.

दरोगा को समर्थन

सीसीएसयू के छात्र नेताओं ने भाजपा नेता द्वारा दरोगा की पिटाई की निंदा करते हुए कहा कि ऑन ड्यूटी पुलिसकर्मी के साथ भाजपा नेता द्वारा मारपीट करना निंदनीय है. छात्र नेता देवेंद्र हूण, सागर पोसवाल, राजवीर ने ऐलान किया कि यदि कारोबारियों ने आरोपी के बचाव में पुलिस पर दबाव बनाया तो छात्र विरोध में आंदोलन करेंगे. सोमवार को बड़ी संख्या में छात्र दरोगा के पक्ष में एसएसपी से मुलाकात करेंगे.