-ट्रायल पूरा होते ही शुरू होगा ओपीडी व ऑपरेशन थियेटर

-मुंबई से डॉक्टर्स संग पैरामेडिकल स्टाफ ट्रेनिंग लेकर पहुंचे बनारस

varanasi@inext.co.in

VARANASI

रेलवे कैंसर हॉस्पिटल, लहरतारा में मंगलवार से ओपीडी का ट्रायल स्टार्ट होने जा रहा है. पहले दिन रजिस्ट्रेशन का ट्रायल शुरू होगा. इसके तहत पेशेंट का ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन किया जाएगा. कंप्यूटर में ईएमआर यानी इलेक्ट्रानिक मेडिकल रजिस्ट्रेशन के लिए सॉफ्टवेयर अपलोड कर दिया गया है. एक वीक तक रजिस्ट्रेशन ट्रायल के बाद आपरेशन की प्रकिया शुरू कर दी जायेगी. बता दें कि रेलवे कैंसर हॉस्पिटल को टाटा मेमोरियल कैंसर हॉस्पिटल की ओर से अपग्रेड किया गया है.

प्रति माह तीन हजार का इलाज

लहरतारा स्थित रेलवे कैंसर संस्थान और बीएचयू में निर्माणाधीन कैंसर रिसर्च सेंटर को प्रतिमाह तीन हजार पेशेंट्स के अत्याधुनिक उपचार के लिहाज से डेवलप किया जा रहा है. मुंबई स्थित टाटा मेमोरियल कैंसर शोध संस्थान के डायरेक्टर डॉ. कैलाश शर्मा ने बताया कि लहरतारा स्थित हॉस्पिटल में टोटल 179 बेड की फैसिलिटी होगी. 60 बेड प्राइवेट व सेमी प्राइवेट होंगे. 119 बेड जनरल वार्ड व डे-केयर के लिए होंगे. इस हॉस्पिटल के आकार लेने के बाद यूपी समेत आसपास के छह स्टेट्स के लोगों को मुंबई तक की भागदौड़ से मुक्ति मिल जाएगी.

एक छत के नीचे पूरा ट्रीटमेंट

अपग्रेड होने के बाद रेलवे कैंसर हॉस्पिटल के पास खुद की अत्याधुनिक विदेशी मशीनें और ब्लड बैंक होगा. यहां पहले ब्लड व बच्चों के कैंसर का ट्रीटमेंट स्टार्ट होगा. टाटा मेमोरियल की ओर से यहां बोनमैरो ट्रांसप्लांट के लिए अत्याधुनिक मशीन भी लगाई जाएगी. बच्चों से जुड़े कैंसर के ट्रीटमेंट की ऐसी व्यवस्था की जाएगी कि पहले ही स्टेज में इसे चिन्हित कर जड़ से खत्म किया जा सके.

डॉक्टर्स को मिलेगी ट्रेनिंग

इस संस्थान के जरिए कैंसर एक्सप‌र्ट्स की कमी भी दूर होगी. पीजी कोर्स और डीएनबी यानी डिप्लोमा ऑफ नेशनल बोर्ड से विशेषज्ञ डॉक्टर तैयार किए जाएंगे. बीएचयू सहित स्थानीय फैकल्टी को भी एजुकेशन के लिए शामिल किया जाएगा.

ये मिलेगी फैसिलिटी

-बोनमैरो ट्रांसप्लांट

-हाई डोज रेट ब्रेकीथेरेपी

-कैंसर एक्सरे मशीन

-लीनियर एक्सीलरेटर रेडिएशन थेरेपी

-सेंट्रल इंफॉर्मेशन सिस्टम

-टेली मेडिसिन

-हाईटेक ब्लड बैंक

-एमआरआई

-स्टाफ रूम एंड हकॅस्टल

-मॉडर्न फायर फाइटिंग सिस्टम