- मुख्य सचिव और डीजीपी ने तैयारियाें का लिया जायजा

- एटीएस की टीम हेलीकॉप्टर से करेगी कांवर मार्गो की निगरानी

varanasi@inext.co.in

VARANASI

प्रदेश सरकार के मुख्य सचिव डॉ. अनूप चंद्र पांडेय और डीजीपी ओपी सिंह ने संयुक्त रूप से कहा कि वाराणसी समेत पूरे प्रदेश में कांवरियों की सुरक्षा को लेकर सरकार पूरी तरह से गंभीर है. हर जिले में सुरक्षा के विशेष बंदोबस्त होंगे. कुम्भ मेले की तरह काशी में सावनभर सुरक्षा और व्यवस्थाएं रहेंगी. एटीएस की टीम हेलीकॉप्टर से कांवर मार्गो की निगरानी करेगी. पूर्व में हुई आतंकी घटनाओं को देखते हुए एंटी टेरेरिस्ट स्क्वॉयड की तैनाती होगी. आईबी से लेकर स्थानीय खुफिया एजेंसी को सक्रिय कर दिया गया है.

सावन माह में काशी विश्वनाथ मंदिर में आने वाले भक्तों को उपलब्ध सुविधाएं और सुरक्षा की तैयारियों की समीक्षा करने के लिए शुक्रवार मुख्य सचिव अनूप चंद पांडेय और पुलिस महानिदेशक ओपी सिंह वाराणसी पहुंचे. कमिश्नरी में हुई बैठक के दौरान उन्होंने सावन मेले की तैयारियों को लेकर चर्चा की. प्रमुख सचिव और डीजीपी ने वाराणसी समेत मीरजापुर, प्रयागराज, आजमगढ़ मंडल के अधिकारियों के साथ कांवरियों की सुरक्षा और उनके लिए सुविधाओं को बेहतर करने को लेकर दिशा-निर्देश दिया. बरसात के कारण गंगा के जलस्तर में तेजी होने से घाट पर नहाने के दौरान सुरक्षा के बेहतर इंतजाम करने पर जोर दिया.

सुरक्षा में लगेगी हर फोर्स

बैठक में कांवरियों की सुरक्षा को लेकर कई निर्णय लिये गये. सावन में कांवरियों और कांवर मार्गो की हेलीकाप्टर से निगरानी की जाएगी. पुलिस समेत सभी विभागों के बीच समन्वय के लिए इंटीग्रेटेड कंट्रोल रूम बनाया जाएगा. पुलिस, पीएसी, आरपीएफ के अलावा जरूरत पड़ने पर अ‌र्द्ध सैनिक बल की तैनाती होगी. पूर्व में हुई आतंकी घटनाओं को देखते हुए एंटी टेरेरिस्ट स्क्वॉयड के जवान भी पूरे शहर में भ्रमण करेंगे. आईबी से लेकर स्थानीय खुफिया एजेंसी को सक्रिय कर दिया गया है.