KANPUR: Corona In Kanpur Update: सिटी में कोरोना पॉजिटिव पेशेंट पाए जाने के बाद घोषित किए गए 7 रेड जोन इलाकों में डोर टू डोर सर्वे का काम तेजी से चल रहा है। इसके जरिए बाहर से आए लोगों की और जमात के संपर्क में आए लोगों की पहचान की जा रही है। हेल्थ डिपार्टमेंट, जिला प्रशासन और पुलिस की 150 से ज्यादा टीमों ने सातों रेड जोन एरियाज में अभी तक 70 हजार परिवारों के बीच सर्वे किया है। वहीं हेल्थ डिपार्टमेंट ने अब तक 4198 लोगों को क्वारन्टीन किया हुआ है। ट्यूजडे को भी दूसरे शहरों और विदेश से लौटे 58 लोगों को क्वारंटीन में भेजा गया। इनमें से 45 लोग दूसरे प्रदेश से आए हैं। विदेश से लौटे 13 लोगों ने खुद हेल्थ डिपार्टमेंट को सूचना दी जिसके बाद उन्हें क्वारन्टीन पर रखा गया है। अभी कानपुर में कोरोना पाजिटिव आए कुल 9 लोगों का हैलट और सरसौल सीएचसी के आइसोलेशन वार्ड में ट्रीटमेंट किया जा रहा है।

कब-कब कितने कोरोना पॉजिटिव मरीज

23 मार्च- एनआरआई सिटी में बुजुर्ग की रिपोर्ट पॉजिटिव

3 अप्रैल- 6 जमातियों में कोरोना वायरस की पुष्टि

5 अप्रैल- एक जमाती की कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजिटिव

6 अप्रैल- 2 जमाती कोरोना पॉजिटिव पाए गए

Coronavirus in Auraiya: औरैया से कानपुर शिफ्ट किए गए 4 नए कोरोना पाजिटिव जमाती

औरेया में कोरोना पॉजिटिव आए चार जमाती टयूजडे को कानपुर में सरसौल सीएचसी शिफ्ट कर दिए गए। हालांकि ऐसा करने की वजह नहीं पता चली, लेकिन एडिशनल डायरेक्टर हेल्थ के निर्देश पर इन चारों जमातियों को सरसौल सीएचसी शिफ्ट कराया गया। इसी के साथ अब सरसौल सीएचसी में 7 कोरोना पॉजिटिव पेशेंट्स का ट्रीटमेंट चल रहा है।

corona in kanpur: औरैया से कानपुर लाए गए 4 कोरोना पॉजिटिव जमाती,शहर में 4198 लोग क्वारंटीन में,रेड जोन इलाकों में सर्वे जारी

कानपुर में सभी कोरोना पेशेंट हैं Tablighi Jamaat से, अब कानपुर में सम्‍पूर्ण लॉकडाउन, पुलिस ने दिखाई सख्‍ती

यहां संसाधन सीमित हैं

सीएचसी प्रभारी डॉ. एसएल वर्मा के मुताबिक चार कोरोना पॉजिटिव पेशेंट्स को टयूजडे सुबह ही यहां लाया गया है। सभी की हालत सामान्य है। उन्होंने बताया कि पहले से भर्ती तीनों जमाती भी अब इलाज में सहयोग कर रहे हैं। वहीं दूसरे जिले से कोरोना पॉजिटिव पेशेंट्स को लेवल-1 के ट्रीटमेंट के लिए भी भेजे जाने पर सीएचसी में तैनात स्टाफ में नाराजगी भी जताई। कुछ ने दबी जबान में कहा कि हमारे यहां संसाधन सीमित हैं, जिन जिलों में भी सीएचसी और डिस्ट्रिक्ट हॉस्पिटल्स हैं। वहां से पेशेंट्स का यहां भेजा जाना कितना सही है, हर कोई यही सवाल एक दूसरे से पूछ रहा है?

kanpur@inext.co.in

Posted By: Chandramohan Mishra

National News inextlive from India News Desk

inext-banner
inext-banner