नई दिल्ली (एएनआई)। Coronavirus कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए मंगलवार आधी रात से देश में 21 दिनों के लिए लाॅकडाउन जारी है। ऐसे में रेलवे ने बुधवार को कहा कि कोई भी पैसेंजर, मेल, एक्सप्रेस या उपनगरीय ट्रेनें इस लाॅकडाउन के दाैरान नहीं चलाई जाएगी। हालांकि आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए मालगाड़ियों का परिचालन जारी रहेगा। इस दाैरान रेलवे बोर्ड की ओर से जारी प्रेस विज्ञप्‍ति में कहा गया है कि कोरोना वायरस के कारण लॉकडाउन के मद्देनजर सभी यात्री ट्रेनें अब 25 मार्च से 14 अप्रैल तक रद रहेंगी। सभी मेल / एक्सप्रेस ट्रेनें (प्रीमियम ट्रेनों सहित), यात्री ट्रेनें, मेट्रो ट्रेनें और कोलकाता मेट्रो रेलवे की ट्रेनें का परिचालन 14 अप्रैल को रात 12 बजे के बाद शुरू किया जाएगा। इससे पहले रेल मंत्रालय ने रेलवे बोर्ड की बैठक के बाद 22 मार्च मध्यरात्रि से 31 मार्च तक सभी ट्रेनें रद करने का फैसला किया था।

ट्रेनों से प्रभावित यात्री अगले 45 दिन तक रिफंड क्लेम कर सकेंगे

इस दाैरान कहा था कि देश में जरूरी सामानों की आपूर्ति व्यवस्था बनाए रखने के लिए मालगाड़ियों का संचालन जारी रहेगा और रद की गई ट्रेनों से प्रभावित यात्री यात्रा टिकट की तारीख से अगले 45 दिन तक रिफंड क्लेम कर सकेंगे। आसानी से रिफंड मिल सके इसके लिए उचित व्यवस्था है।वहीं रेलवे ने की आईआरसीटीसी ने मेल और एक्सप्रेस ट्रेनों में भोजन परोसने की सेवा बंद करके पैकेज्ड फूड जैसे चिप्स, बिस्किट, चाय, काॅफी इत्यादि तक ही सीमित कर दिया था। फूड प्लाजा, रिफ्रेशमेंट रूम, जन आहार और सेल किचन के आसपास खाने पर रोक लगा दी है। वहां से सिर्फ खाद्य पदार्थ खरीदने की इजाजत होगी। बता दें कि रेलवे ने भी पीएम द्वारा 21 दिनों के लिए देश लाॅकडाउन किए जाने के समर्थन में ये कदम उठाया है।

Posted By: Shweta Mishra

National News inextlive from India News Desk