लखनऊ (आईएएनएस)उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को 'प्रवासी राहत मित्र' ऐप लॉन्च किया है, जिसका उद्देश्य उत्तर प्रदेश में अन्य राज्यों से आने वाले प्रवासी नागरिकों को सहायता प्रदान करना है ताकि वे सरकारी योजनाओं का लाभ उठा सकें। यह ऐप उनके कौशल से संबंधित नौकरियों और आजीविका प्रदान करने के अलावा उनके स्वास्थ्य की निगरानी करने में भी मदद करेगा। बता दें कि इस ऐप के जरिए प्रवासी नागरिकों का डेटा कलेक्ट किया जाएगा और इसे राज्य के राजस्व विभाग द्वारा संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम के सहयोग से बनाया गया है।

योजना तैयार करने में मिलेगी मदद

सरकार के प्रवक्ता के अनुसार, सरकार के विभिन्न विभागों द्वारा सूचनाओं के आदान-प्रदान से इन प्रवासी नागरिकों के रोजगार और आजीविका के लिए कार्यक्रमों की योजना बनाने और तैयार करने में मदद मिलेगी। ऐप में आश्रय केंद्र में रहने वाले व्यक्तियों और प्रवासियों का पूरा विवरण होगा जो दूसरे राज्यों से सीधे अपने घरों में पहुंच गए हैं। व्यक्ति की मूल जानकारी जैसे नाम, शैक्षिक योग्यता, अस्थायी व स्थायी पता, बैंक खाता विवरण और कोरोना-संबंधी स्क्रीनिंग स्थिति को ऐप में लिया जाएगा। इसमें 65 से अधिक प्रकार के कौशल का विवरण एकत्र किया जाएगा। प्रवासी नागरिकों को राशन किट के वितरण की स्थिति भी ऐप में दर्ज की जाएगी। इस ऐप की एक और खासियत यह है कि यह ऑनलाइन के साथ-साथ ऑफलाइन भी काम कर सकता है।

Posted By: Mukul Kumar

Technology News inextlive from Technology News Desk

inext-banner
inext-banner