-शहर में उन जगहों पर फिर हुआ अतिक्रमण जहां से खुद ने डीएम ने हटवाया था

-दोबारा अतिक्रमण करने पर एफआईआर करने का डीएम का फरमान हुआ हवा-हवाई

इस शहर में डीएम के आदेश को ठेंगे पर रखा जाता है. शहर को जाम और गंदगी मुक्त बनाने के लिए अभियान छेडे़ डीएम सुरेंद्र सिंह अतिक्रमण हटाने पर विशेष ध्यान दिए हुए हैं. दिवाली से पूर्व सर्वे के दौरान विभिन्न इलाकों में जाम और गंदगी की रिपोर्ट अधिक मिली तो खुद डीएम ने प्रशासनिक अधिकारियों संग उन इलाकों में गश्त किया. रोड पर जमा अतिक्रमणकारियों को खदेड़ा और गंदगी फैलाने वाले दुकानदारों पर जुर्माना लगाकर चालान भी किया. हिदायत दी थी कि दोबारा अतिक्रमण व गंदगी मिलने पर संबंधित के खिलाफ सीधे एफआईआर तक की जाएगी. इन पर नजर रखने के लिए डीएम ने इलाकाई पुलिस को निर्देशित किया था. लेकिन कुछ दिनों बाद ही हालात पहले जैसे हो गए. दैनिक जागरण आई नेक्स्ट ने उन इलाकों का रिएलिटी चेक किया जहां पहले अतिक्रमण हटाया गया था. वहां अतिक्रमणकारी फिर जमा हो गए हैं. रोड पर दुकानें सज रही हैं, नो पार्किंग की बोर्ड को मुंह चिढ़ाते हुए गाडि़यां खड़ी की जा रही है. इलाकाई पुलिस चुपचाप सब देख रही है.

सीन-वन

पांडेयपुर में सड़कों पर दुकानें सजी हैं. ठेले-खुमचे वाले आधी रोड से ज्यादा पर कब्जा जमाए हैं. इनके बाद कोई जगह बचती है तो ऑटो वाले खड़े हो गए हैं. बमुश्किल राहगीर गुजर पा रहे हैं. जब-तब जाम लग जा रहा है.

सीन-टू

भोजूबीर-सिंधौरा मार्ग पर रोड की दोनों ओर अतिक्रमणकारियों का कब्जा है. स्थानीय दुकानें अपने दायरे से बाहर आ गयी हैं. पटरी पर तो पहले से कब्जा है. रोड पर काफी हिस्सा अतिक्रमणकारियों की चपेट में आने से जबरदस्त जाम लगा है.

सीन-थ्री

दशाश्वमेध एरिया में पटरी दुकानें रोड पर इस कदर फैली हैं कि चलने के लिए बेहद सकरा रास्ता ही बचा है. इस रास्ते में लोगों ने अपनी गाडि़यों को पार्क कर दिया. रही सही कसर ट्राली-ठेलों ने पूरा कर दिया है.

सड़क पर सजी दुकान

दैनिक जागरण आई नेक्स्ट की टीम पांडेयपुर, भोजूबीर और दशाश्वमेध एरिया में अतिक्रमण का हाल जानने पहुंची तो हर दुकान अपने दायरे से बाहर नजर आयीं. भोजूबीर में शोरूम्स, दुकानों के बाहर सड़क पर नो पार्किंग में खड़ी हो रही हैं. इनकी वजह से लंबा जाम लगा रहा. पांडेयपुर में अधिकतर दुकानों के आगे ठेले-खोमचे वाले दुकान सजाए रहे. खुद दुकानदार भी अपने सामान सड़क पर फैलाए हैं. दशाश्वमेघ एरिया में अतिक्रमण तो दिखा ही साथ में दुकानों के बाहर गंदगी भी खूब दिखी.

यही हालत चेतगंज, नई सड़क, लक्सा, गोदौलिया, लंका, महमूरगंज, मडुवाडीह एरिया में भी है.

जेब हो रही गर्म

दशाश्वमेध एरिया में जब डीएम ने अभियान चलाया था तो यहां पर एक होटल के बाहर फैली गंदगी पर नाराजगी जाहिर की थी. होटल मालिक पर पांच हजार रुपये का जुर्माना ठोंका था. बाद में होटल संचालक के नाम नहीं बल्कि अज्ञात के खिलाफ चालान दर्ज किया गया. उक्त होटल का चालान भी नहीं वसूला गया. स्थानीय लोगों की मानें तो इस रहम की वजह यह है कि इलाकाई पुलिस उसी होटल पर दोनों पहर का भोजन करती है. आरोप है कि रोड पर दुकानें सजाने के बदले पुलिस की जेब गर्म होती है.

पांडेयपुर में तो अभियान तो चला लेकिन उसकी मॉनिटरिंग नहीं होने की वजह से दुकानें फिर से सड़क पर लग रही हैं. इसके लिए पुलिस जिम्मेदार है. अतिक्रमण के अलावा गंदगी भी खूब हो रही है.

सुजीत पांडेय, पांडेयपुर

पुलिस पर जिम्मेदारी है कि अतिक्रमण दोबारा नहीं लगे लेकिन अब तो अतिक्रमण का दायरा बढ़ता ही जा रहा है. भले ही डीएम ने कार्रवाई की हो लेकिन पुलिस की शह पर अतिक्रमणकारियों में कोई डर नहीं है.

गोलू सिंह, पांडेयपुर

भोजूबीर-सिंधौरा मार्ग पर अतिक्रमण हटाया गया था. कुछ ही दिन सड़क खाली रही, उसके बाद फिर से अतिक्रमण का बाजार सज गया है. डीएम साहब का फरमान हवा में रह गए.

विवेक पाठक, भोजूबीर

डीएम साहब ने कड़ाई से नियम पालन कराने के लिए इलाकाई पुलिस को निर्देशित किया था. मगर एक भी अतिक्रमणकारियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हुई, यदि होती तो खौफ रहता.

अजय पाल, भोजूबीर

कुछ भी कहिए लेकिन अतिक्रमणकारियों पर कोई असर नहीं है. जुर्माना भी भर देंगे और अतिक्रमण, गंदगी भी फैलाएंगे. शहर में यह अब आम हो गया है.

अजय उपाध्याय, दशाश्वमेध