वाशिंगटन (पीटीआई)। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा है कि भारत और चीन अब 'विकासशील देश' नहीं हैं, फिर भी विकास के नाम पर वर्ल्ड ट्रेड ऑर्गेनाईजेशन से फायदा ले रहे हैं। उन्होंने जोर देकर कहा कि वह अब ऐसा नहीं होने देंगे। बता दें कि ट्रंप अमेरिकी उत्पादों पर जबरदस्त टैक्स वसूलने को लेकर भारत के मुखर आलोचक रहे हैं और उन्होंने हमेशा भारत को 'टैरिफ किंग' के नाम से पुकारा है। इसके अलावा अमेरिका और चीन भी अपने उत्पादों पर इनदिनों अधिक टैक्स वसूलने को लेकर ट्रेड वार में जुटे हैं। इससे पहले जुलाई में, ट्रंप ने विश्व व्यापार संगठन को यह बताने के लिए कहा था कि वह किस आधार पर दुनिया में विकासशील देश निर्धारित करते हैं?

ट्रंप के खिलाफ नहीं चलाया जायेगा महाभियोग, अमेरिकी सदन में प्रस्ताव हुआ खारिज

अमेरिका को होता है नुकसान

मंगलवार को पेंसिल्वेनिया में एक सभा को संबोधित करते हुए, ट्रंप ने कहा, 'एशिया के दो आर्थिक दिग्गज भारत और चीन अब विकासशील राष्ट्र नहीं हैं, इसलिए वे विश्व व्यापार संगठन से लाभ नहीं ले सकते हैं। वे सालों से हमसे फायदा ले रहे हैं। वे सिर्फ अमेरिका को नुकसान पहुंचाने के लिए विश्व व्यापार संगठन से इस तरह का फायदा उठाते हैं। वे इकॉनमी के मामले में बहुत आगे बढ़ गए हैं और अमेरिका विश्व व्यापार संगठन से भारत और चीन जैसे देशों को विकासशील राष्ट्र के नाम पर अब लाभ उठाने नहीं देगा।' इसके साथ ट्रंप ने यह भी उम्मीद जताई कि विश्व व्यापार संगठन अमेरिका के साथ 'निष्पक्ष' व्यवहार करेगा। बता दें कि जिनेवा-आधारित विश्व व्यापार संगठन एक अंतर-सरकारी संगठन है, जो राष्ट्रों के बीच अंतर्राष्ट्रीय व्यापार को नियंत्रित करता है।

Posted By: Mukul Kumar

International News inextlive from World News Desk