नई दिल्ली (पीटीआई)। आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (AI) लैब Google रिसर्च इंडिया फंडामेंटल कंप्यूटर साइंस और AI रिसर्च को बढ़ावा देगी। AI साइंटिस्ट मनीष गुप्ता के नेतृत्व वाली Google टीम के अलावा, कंपनी स्वास्थ्य सेवा, कृषि और शिक्षा जैसे क्षेत्रों में चुनौतियों से निपटने के लिए देश भर में फैली रिसर्च कम्यूनिटी के साथ साझेदारी करेगी।

AI में भारत करेगा बड़ा योगदान

Google के वाइस प्रेसिडेंट सीजर सेनगुप्ता ने कहा कि 'हम भारत से अविश्वसनीय रूप से प्रेरित हैं। एक विश्वस्तरीय इंजीनियरिंग प्रतिभा, मजबूत कंप्यूटर साइंस प्रोग्राम और इंटरप्रेन्योरशिप के साथ, भारत के पास AI में प्रगति और बड़ी चुनौतियों से निपटने में योगदान करने की क्षमता है।' उन्होंने कहा कि कंपनी नए प्रोडक्ट ला रही है साथ ही पहली बार इंटरनेट यूज कर रहे लोगों के लिए मौजूदा प्रोडक्ट्स में नए फीचर जोड़ रही रही है। सेनगुप्ता ने 'Google For India' इवेंट में कहा, 'भविष्य सिर्फ तकनीक के बारे में नहीं है बल्कि समावेश, सशक्तीकरण और आर्थिक अवसर के बारे में है। भारत हमें प्रेरित करता है।'

सिस्टम का दुरुपयोग रोकने के लिए करें प्रयास

इस कार्यक्रम में मौजूद आईटी मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि Google जैसे तकनीकी प्लेटफॉर्म को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि उनके उत्पाद उपयोगकर्ताओं के लिए सुरक्षित हों। उन्होंने कहा, 'उन्हें व्यक्तियों के निजता के अधिकारों की रक्षा करनी चाहिए। साथ ही, आपको यह सुनिश्चित करने के लिए अतिरिक्त प्रयास करने होंगे कि लोग सिस्टम का दुरुपयोग न करें'।

तेजी से बढ़ रहा Google Pay

सेनगुप्ता ने कहा कि टाटा ट्रस्ट् के साथ अपने इंटरनेट साथी कार्यक्रम के तहत, लगभग 80,000 साथियों को प्रशिक्षित किया गया है, जिन्होंने 30 मिलियन महिलाओं को प्रशिक्षित किया है। सेनगुप्ता ने कहा कि पिछले 12 महीनों में, Google Pay के मंथली एक्टिव यूजर्स तीन गुना बढ़कर 67 मिलियन हो गए हैं, जिनके चलते वार्षिक आधार पर ऑफ़लाइन और ऑनलाइन व्यापारियों के बीच 110 बिलियन अमरीकी डालर से अधिक का लेनदेन हुआ है। इनमें से लगभग दो-तिहाई लेनदेन टियर- II और -III शहरों और कस्बों से है।

Google Pay ला रहा नया प्लेटफॉर्म

Google Pay, जो Paytm और PhonePe के साथ प्रतिस्पर्धा करता है, 'स्पॉट' प्लेटफॉर्म पेश कर रहा है जो व्यापारियों को ब्रांडेड कॉमर्शियल एक्सपिरियंस उपलब्ध कराने और नए ग्राहकों तक पहुंचने में मददगार बनेगा। Google ने अर्लीक्लैप, गोआईबीबो, मेकमाईट्रिप, रेडबस, ईट.फिट और ओवन स्टोरी जैसों को अपने ही आती एक्सेस प्रोग्राम के माध्यम से पहले ही अपने साथ जोड़ लिया है।

 

डिजिटल टोकन से फोन पर कर सकेंगे भुगतान

इसके अलावा, Google Pay वास्तविक कार्ड नंबर के बजाय फोन पर डिजिटल टोकन का उपयोग करके चीजों का भुगतान करने का एक सुरक्षित तरीका प्रदान करने के लिए अगले कुछ हफ्तों में 'टोकन कार्ड' जारी कर रहा है। Google पे पर टोकन कार्ड्स - पहले से ही दुनिया के कुछ देशों में उपलब्ध हैं - इसे एचडीएफसी, एक्सिस, कोटक और स्टैंडर्ड चार्टर्ड आदि बैंकों के लिए वीजा कार्ड के साथ रोल आउट किया जाएगा। सेनगुप्ता ने कहा, 'हम आने वाले महीनों में अधिक बैंकों के साथ मास्टरकार्ड और रूपे के लिए भी इस सुविधा का विस्तार करेंगे।

छोटे व्यापारियों के लिए Google Pay For Business

उन्होंने कहा कि Google Pay 'Google Pay For Business' नामक एक नए ऐप के माध्यम से छोटे व्यवसायों के लिए मददगार बनने जा रहा है। यह छोटे और मध्यम आकार के व्यापारियों के लिए एक स्वतंत्र ऐप है जो डिजिटल भुगतानों को सक्षम करने के लिए है जहां सत्यापन प्रक्रिया को दूरस्थ रूप से किया जाता है। डिजिटल भुगतान में भारी वृद्धि के बावजूद, भारत के 60 मिलियन से अधिक छोटे व्यवसायों का एक बड़ा हिस्सा अभी भी बढ़ती डिजिटल अर्थव्यवस्था का लाभ नहीं ले पा रहा है। उन्होंने कहा, 'हमें उम्मीद है कि ये पहल व्यापारियों को अधिक आत्मविश्वास के साथ डिजिटल भुगतान को अपनाने में मदद करेगी और ऑनलाइन वित्तीय सेवाओं के दीर्घकालिक विकास में मददगार होगी'।

नौकरी चाहने वालों के लिए 'Jobs'

Google ने नौकरी चाहने वालों के लिए एंट्री लेवल की वैकेसियां खोजने और उसकी तैयारी में मदद को Google Pay पर 'Spot' के रूप में 'Jobs' भी लॉन्च किया है। सेनगुप्ता ने कहा, 'चूंकि कई छोटे व्यापारी Google Pay पर मौजूद हैं, इसलिए यह संभावित कर्मचारियों के साथ जुड़ने के लिए एक आसान तंत्र प्रदान करता है। मशीन लर्निंग का उपयोग नौकरी चाहने वालों को साक्षात्कार के लिए तैयार करने और नए कौशल सीखने में मदद करने के लिए नौकरियों और प्रशिक्षण सामग्री की सिफारिश करने के लिए किया जाता है'। Google रिटेल में 24 शुरुआती साझेदारों जैसे 24 Seven और Healthkart, डिलीवरी और लॉजिस्टिक्स भागीदारों जैसे Swiggy, Zomato और Dunzo और हॉस्पिटैलिटी सेवा प्रदाताओं जैसे Fabhotels के साथ भी Job Spot की शुरुआत कर रहा है। इसके अलावा, वह स्किल इंडिया प्रोग्राम के लिए नेशनल स्किल डेवलपमेंट काउंसिल के साथ साझेदारी कर रहा है।

BSNL और Vodafone-Idea के साथ Google की साझेदारी

Google ने कहा कि वह गुजरात, बिहार और महाराष्ट्र के गांवों में हाई-स्पीड सार्वजनिक वाईफाई लाने के लिए राज्य द्वारा संचालित बीएसएनएल के साथ भागीदारी कर रहा है। इसने पहले देश के 400 ट्रेन स्टेशनों पर वाईफाई सेवाएं प्रदान करने के लिए रेलटेल के साथ काम किया था। इसने 'वोडाफोन-आइडिया फोन लाइन' के लिए वोडाफोन आइडिया के साथ अपने सहयोग की भी घोषणा की, ताकि टेलीकॉम कंपनी के 2 जी ग्राहकों को डेटा का उपयोग किए बिना सूचना तक पहुंच मिल सके। उपयोगकर्ता स्कोर बोर्ड से लेकर ट्रैफिक की स्थिति तक के सवालों के जवाब पाने के लिए या होमवर्क में मदद लेने के लिए एक टोल-फ्री नंबर पर कॉल कर सकते हैं। गूगल असिस्टेंट द्वारा समर्थित यह सेवा हिंदी और अंग्रेजी में उपलब्ध होगी।

Posted By: Inextlive Desk

Technology News inextlive from Technology News Desk