- खोराबार एरिया में रविवार की सुबह हुई गिरफ्तारी

- महंगे शौक पूरे करने के लिए करते थे बाइक चोरी

GORAKHPUR: शहर के भीतर बाइक चुराकर बेचने वाले गैंग के दो सदस्य पकड़े गए. अपनी लग्जरी लाइफ के लिए दोनों बाइक चुराकर सौदेबाजी करते थे. चोरी की बाइक से आने वाली रकम से दोनों महंगी चीजें खरीदकर भौकाल मेंटेन करते थे. एएसपी रोहन प्रमोद बोत्रे ने बताया कि चोरी की बाइक नेपाल में औने-पौने दाम में बेची जाती थी. कुल छह बाइक बाइक बरामद की गई है.

चेकिंग में पकड़े गए व्हीकल लिफ्टर

एएसपी ने बताया कि इंस्पेक्टर खोराबार अम्बिका प्रसाद भारद्वाज और रामगढ़ताल चौकी इंचार्ज सूरज सिंह को मुखबिर से सूचना मिली. बताया गया कि चोरी की बाइक से दो युवक निर्माणाधीन चिडि़याघर की तरफ जा रहे हैं. हनुमान मंदिर तिराहे के पास पुलिस खड़ी हो गई. बाइक सवार युवकों को रोका गया तो वह भागने लगे लेकिन लड़खड़ाकर गिर पड़े. पूछताछ में पता लगा कि एक युवक दाउदपुर मोहल्ले का मनीष है. जबकि दूसरा नौसढ़ का अमित निषाद है. दोनों के पास बाइक का कोई कागज नहीं था. जांच में सामने आया कि दोनों शहर से बाइक चुराकर नेपाल में बेच देते हैं.

महंगे शौक पूरे करने के लिए उड़ाते थे बाइक

पुलिस की सख्ती पर दोनों आरोपियों ने पुलिस को जानकारी दी. बताया कि उनके पास चोरी की छह बाइक हैं. जहां-तहां दबिश देकर पुलिस ने बाइक बरामद कर लिया. दोनों ने पुलिस को बताया कि वह अपने महंगे शौक पूरा करने के लिए चोरी करते हैं. होटल में खाना खाना, ब्रांडेड कपड़े, जूते पहनने के लिए दोनों बाइक चोरी करते थे. बरामद बाइक में दो खोराबार, एक झंगहा के रहने वाले रिटायर सैनिक प्रेम नारायण सिंह की चोरी हुई थी. बुद्ध विहार पार्ट सी में रहने वाले प्रेम नारायण सिंह की बाइक 15 दिन पूर्व भगत चौराहे से उठी थी. दूसरी बाइक उदयनारायण की न्यू कैलाशपुरी कॉलोनी से चोरी गई थी.

वर्जन

बाइक चोरों के गैंग के अरेस्ट किया गया उनके पास से चोरी की छह बाइक बरामद हुई. पूछताछ करके जानकारी जुटाई जा रही है. जल्द ही गैंग से जुड़े लोगों को पकड़ लिया जाएगा.

रोहन प्रमोद बोत्रे, एएसपी-सीओ कैंट