पतंजलि ऋषिकुल स्कूल प्रांगण में हुआ भव्य आयोजन

allahabad@inext.co.in

ALLAHABAD: गुरुदेव रवीन्द्र नाथ टैगोर की 157वीं जयंती के अवसर पर सिटी में कई आयोजन हुए. इस दौरान स्कूलों और सांस्कृतिक संगठनों की तरफ से कई कार्यक्रम का आयोजन हुआ. पतंजलि ऋषिकुल स्कूल में महान कवि, कहानीकार गुरुदेव रवीन्द्र नाथ टैगोर की 157वीं जंयती मनायी गई.

इस मौके पर स्कूल में कई सांस्कृतिक कार्यक्रम की प्रस्तुति की गई. कार्यक्रम की शुरुआत एसके सिंह द्वारा दीप प्रज्जवलन से किया गया. इसके बाद स्कूल की प्रिंसिपल मोनिका दत्ता ने स्वागत भाषण प्रस्तुति करते हुए कहा कि पैरेंट्स को अपने बच्चों के लिए अधिक से अधिक समय निकालना चाहिए. जिससे वह बच्चों की प्रत्येक गतिविधियों पर नजर रख सके और उनके क्रियाकलापों पर आवश्यकता के अनुसार नजर रख सके. जिससे बच्चों को सही मार्गदर्शन मिले और उनका सर्वागीण विकास हो सके.

प्रकृति प्रेम के प्रति करें प्रोत्साहित

रवीन्द्र नाथ टैगोर जयंती के अवसर पर बच्चों और उनके पैरेंट्स को संबोधित करते हुए कहा कि पैरेंट्स को चाहिए कि वह अपने बच्चों को प्रकृति प्रेमी बनने के लिए प्रोत्साहित करे. प्रकृति ही हमारे बच्चों के सहज और स्वाभाविक विकास में अहम भूमिका निभाती है. कार्यक्रम के अवसर पर बच्चों ने कई सांस्कृतिक कार्यक्रमों की भी मोहक प्रस्तुति दी. इस दौरान गुरुदेव की रचनाओं पर आधारित रंगारंग कार्यक्रम की प्रस्तुतियों को देखकर दर्शकों ने भी तालियां बजाकर बच्चों का उत्साह बढ़ाया. चीफ गेस्ट एसके सिंह ने बच्चों की प्रस्तुतियों की सराहना करते हुए उनके उज्जवल भविष्य की कामना की. उन्होंने कहा कि आज के जीवन शैली में साथ बैठना, मिलना और सुख-दुख आपस में बांटना बेहद जरूरी है. इससे हमारे बच्चों की बहुत सी समस्याएं स्वत: ही दूर हो जाएगी. कार्यक्रम के दौरान इंडियन टैलेंट, हैंड राइटिंग एवार्ड, एनएसटीएसई, नेशनल ओलंपियाड भूषण एवार्ड, समेत कई एवांड भी दिए गए. कार्यक्रम के दौरान कुल 2 ट्रॉफी, 11 स्वर्ण पदक, 2 रजत पदक, 7 कांस्य पदक, 3 घडि़यां एवं 3 बच्चों को नकद पुरस्कार दिए गए. आखिर में विजेताओं को बधाई देते हुए कार्यक्रम का समापन हुआ.