सैन फ्रांसिस्को (आईएएनएस) हैकर्स ने केवल 41,500 रुपये के लिए 267 मिलियन (26.7 कराेड़) फेसबुक यूजर्स की पर्सनल डेटा को बेच दिया है, जिसमें ईमेल अड्रेस, नाम, फेसबुक आईडी, जन्म तिथि और फोन नंबर शामिल हैं। साइबर रिस्क असेसमेंट प्लेटफॉर्म सिबल के अनुसार, अच्छी बात यह है कि हैकर ने इन फेसबुक यूजर्स में से किसी के पासवर्ड का खुलासा नहीं किया है। साइबल के शोधकर्ताओं ने आसानी से इस सेल का पता लगा लिया। साथ ही वह डेटा को डाउनलोड और वेरीफाई करने में भी सक्षम रहे। कंपनी ने एक बयान में कहा, 'इस वक्त हमें इस बात की जानकारी नहीं है कि पहली बार में डेटा कैसे लीक हुआ। यह थर्ड पार्टी API (एप्लिकेशन प्रोग्रामिंग इंटरफेस) में लीकेज या स्क्रैपिंग के कारण हो सकता है।'

फिशिंग के लिए उपयोग किया जा सकता है डेटा

कंपनी ने यूजर्स को सावधान करते हुए कहा है कि साइबर अपराधियों द्वारा इस डेटा का उपयोग फिशिंग और स्पैमिंग के लिए किया जा सकता है। बता दें कि पिछले साल दिसंबर में, फेसबुक के 267 मिलियन से अधिक यूजर्स की डेटा लीक होने की रिपोर्ट्स सामने आईं थीं। तब फेसबुक के प्रवक्ता ने कहा था, 'हम इस मामले पर गौर कर रहे हैं लेकिन विश्वास करें कि लोगों की जानकारी को बेहतर ढंग से संरक्षित करने के लिए पिछले कुछ वर्षों में किए गए परिवर्तनों से पहले यह डेटा चुराई गई होगी।' वहीं, साइबल शोधकर्ताओं ने उपयोगकर्ताओं को अपने फेसबुक प्रोफाइल पर अपनी प्राइवेसी सेटिंग्स को मजबूत करने और अवांछित ईमेल व मैसेज से सावधान रहने की सिफारिश की है। बता दें कि ब्रिटेन की राजनीतिक परामर्शदाता कंपनी कैम्ब्रिज एनालिटिका द्वारा 87 मिलियन यूजर्स के व्यक्तिगत डेटा लीक करने के बाद फेसबुक को गहन जांच का सामना करना पड़ा। इसको लेकर फेडरल ट्रेड कमिशन (एफटीसी) ने फेसबुक पर 5 बिलियन डॉलर का जुर्माना लगाया था।

Posted By: Mukul Kumar

Technology News inextlive from Technology News Desk

inext-banner
inext-banner