कानपुर। Happy Birthday AB de Villiers 17 फरवरी 1984 को साउथ अफ्रीका के प्रिटोरिया में जन्में अब्राहम बेंजामिन डिविलियर्स अफ्रीकी क्रिकेट टीम के बेहतरीन बल्लेबाज रहे हैं। अपने 14 साल के करियर में डिविलियर्स ने न जाने कितने रिकॉर्ड बनाए। खासतौर से उनकी तूफानी बल्लेबाजी के सभी कायल हैं। क्रिकेट का कोई भी फॉर्मेट हो, एबीडी की शानदार बैटिंग देखने लायक होती है। हालांकि 36 साल का यह खिलाड़ी क्रिकेट को अलविदा कह चुका है मगर लीग क्रिकेट में इनका बल्ला अभी भी चल रहा।

2004 में खेला था पहला इंटरनेशनल मैच

एबी डिविलियर्स का इंटरनेशनल क्रिकेट करियर करीब 14 साल लंबा रहा। साल 2004 में एबीडी ने बतौर विकेटकीपर बल्लेबाज साउथ अफ्रीकी टीम में इंट्री मारी और पहला मैच इंग्लैंड के खिलाफ खेला, जोकि टेस्ट मैच था। हालांकि वनडे में अफ्रीकी क्रिकेट जर्सी पहनने में डिविलियर्स को एक साल लग गए। साल 2005 में एबीडी ने एकदिवसीय क्रिकेट में कदम रखा, इसके बाद सालों तक इस दिग्गज खिलाड़ी ने पीछे मुड़कर नहीं देखा। क्रिकइन्फो पर उपलब्ध डेटा के मुताबिक, डिविलियर्स के नाम वनडे में 228 मैचों में 9577 रन दर्ज हैं। इस दौरान उनका एवरेज 53.50 का रहा। एकदिवसीय क्रिकेट में एबीडी ने 25 शतक और 53 अर्धशतक भी लगाए हैं। टेस्ट की बात करें तो डिविलियर्स के 114 मैचों में 50.66 की औसत से 8765 रन बनाए।

जब 40 मिनट में ठोंक दी थी सेंचुरी

वनडे क्रिकेट में सबसे तेज सेंचुरी का रिकॉर्ड एबी डिविलियर्स के ही नाम है। एबी ने साल 2015 में वेस्टइंडीज के खिलाफ 31 गेंदों में शतक ठोंक दिया था। आपको जानकर हैरानी होगी कि डिविलियर्स को 50 रन बनाने में सिर्फ 19 मिनट लगे। वहीं शतक उन्होंने 40 मिनट में जड़ दिया था। आउट होने से पहले डिविलियर्स 44 गेंदों में 149 रन बना गए थे। इस पारी में उन्होंने 16 छक्के मारे। वनडे पारी में किसी बल्लेबाज द्वारा लगाए गए ये सबसे ज्यादा छक्के हैं।

डिविलियर्स के बारे में फैलाया जाता है ये झूठ

एबी डिविलियर्स इतने जबरदस्त बल्लेबाज रहे हैं कि उनके बारे में क्रिकेट गलियारे में न जाने कितनी अफवाह फैलाई जाती हैं। अगर आप भी एबीडी के फैन हैं तो आपने भी ये बातें सुनी होंगी कि डिविलियर्स हॉकी, फुटबॉल, रग्बी और स्वीमिंग वगैरह में नेशनल चैंपियन रहे हैं। मगर इसकी हकीकत कुछ और है। करीब चार साल पहले 2016 में इस दिग्गज खिलाड़ी ने अपनी निजी जिदंगी से जुड़े कुछ पहलुओं को उजागर करते हुए एक किताब लिखी थी जिसका नाम है 'एबी : द ऑटोबॉयोग्राफी', इस बुक में डिवलियर्स ने उन सभी रहस्यों से पर्दा उठाया था।

पहली अफवाह -

एबी डिविलियर्स क्रिकेटर के साथ-साथ साउथ अफ्रीका के नेशनल हॉकी प्लेयर रहे हैं।

सच्चाई -

डिविलियर्स ने अपनी किताब में लिखा कि, उन्हें कभी भी साउथ अफ्रीका की नेशनल हॉकी टीम में सेलेक्ट नहीं किया गया। हालांकि उन्होंने स्कूल दिनों में हॉकी खेली है।

दूसरी अफवाह -

डिविलियर्स साउथ अफ्रीका की तरफ से फुटबॉल भी खेल चुके हैं।

सच्चाई -

एबी ने इस बात को भी पूरी तरह से नकारा है। किताब में उन्होंने लिखा कि, वह कभी भी सउथ अफ्रीका की नेशनल फुटबॉल टीम के सदस्य नहीं रहे। हालांकि वह स्कूल में मौका मिलते ही ग्राउंड में बच्चों के साथ थोड़ी बहुत फुटबॉल खेल लेते थे। इसके अलावा क्रिकेट मैच से पहले वार्म-अप के लिए फुटबॉल खेली है।

तीसरी अफवाह -

डिविलियर्स जूनियर रग्बी टीम के कप्तान रहे हैं।

सच्चाई -

इस बात पर एबी का कहना है कि, उन्होंने कभी रग्बी खेला ही नहीं।

चौथी अफवाह -

नेशनल स्कूल स्वीमिंग में डिविलियर्स को मिले हैं 6 अवॉर्ड।

सच्चाई -

इस बात पर एबी ने लिखा कि, उन्होंने स्कूल लेवल पर एक बार स्वीमिंग की थी। मगर नेशनल स्कूल स्वीमिंग का कोई भी रिकॉर्ड उनके नाम नहीं है।

पांचवी अफवाह -

नेशनल अंडर-19 बैडमिंटन चैंपियन हैं एबी डिविलियर्स।

सच्चाई -

इस अफवाह पर एबी लिखते हैं कि, 'अगर मेरी मेमोरी तेज है, तो मैंने जिंदगी में सिर्फ एक बार बैडमिंटन खेला है वो भी क्रिकेटर मार्क बाउचर के साथ।'

Posted By: Abhishek Kumar Tiwari

Cricket News inextlive from Cricket News Desk