नई दिल्ली (आईएएनएस)। अक्टूबर-नवंबर में होने वाले आईसीसी टी 20 विश्व कप को लेकर सभी की नजरें टिकी हैं। यह टूर्नामेंट हो पाएगा या नहीं, यह तो समय आने पर पता चलेगा। आईसीसी इसके लिए चिंतित तो है, साथ ही क्रिकेट की इस शीर्ष निकाय के लिए एक और परेशानी की बात वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप है। जिसके अंतर्गत खेली जाने वाली कई सीरीज रद हो चुकी हैं। आईएएनएस के अनुसार, आईसीसी के एक अधिकारी ने कहा, हमें वर्तमान परिदृश्य को ध्यान में रखते हुए काम करना होगा। सभी देशों की अपनी तय बाईलिटरल सीरीज भी हैं, उन्हें ग्रीन सिग्नल दिया जाएगा या नहीं ऐसा केवल एफटीपी पर महामारी के प्रभाव को समझने के बाद ही किया जाएगा।

फ्यूचर टूर प्रोग्राॅम की समीक्षा करनी होगी

अधिकारी ने कहा, 'मौजूदा हालत देखते हुए हमें 2023 तक के फ्यूचर टूर प्रोग्राॅम की समीक्षा करनी होगी। विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप और आईसीसी पुरुष क्रिकेट विश्व कप सुपर लीग दोनों के भविष्य पर चर्चा और निर्णय लेना है। सुपर लीग को बाद की तारीख में आयोजित किया जाएगा।' आईसीसी बोर्ड के एक सदस्य ने पुष्टि की कि टेस्ट मैचों को रद्द करने के संबंध में बातचीत जारी है। हाल ही में आईसीसी की बैठकों में यम बात निकलकर सामने आई कि महामारी का असर अंतत: टेस्ट चैंपियनशिप पर पड़ेगा। लेकिन कैलेंडर को फिर से तैयार करना आसान नहीं होगा और इसमें समय लगेगा।'

दो महीने का लगेगा समय

आईसीसी से जुड़े अफिशल का कहना है, आपको इस बात पर भी विचार करना चाहिए कि शेड्यूल को फिर से शुरू करने के लिए लगभग 2-3 महीने की आवश्यकता होगी क्योंकि दिन के अंत में, यह एक द्विपक्षीय श्रृंखला में खेले जाने वाले टेस्ट मैच हैं, जो डब्ल्यूटीसी के अंतर्गत है। इसलिए सदस्य देशों को किस श्रृंखला को प्राथमिकता देनी होगी और किसे नहीं, यह समझना होगा। भारत वर्तमान में WTC तालिका में 360 अंकों के साथ टाॅप पर है, उसके बाद ऑस्ट्रेलिया (296) और इंग्लैंड (146) है।

Posted By: Abhishek Kumar Tiwari

Cricket News inextlive from Cricket News Desk