कानपुर। WhatsApp अब जल्द ही सेव्ड और अनसेव्ड काॅनटेक्ट के प्रोफाइल पिक्चर को डाउनलोड करने के ऑप्शन को हटा दिया है। एक ऑनलाइन वेबसाइट के मुताबिक फेसबुक ने पहले ही अपने ऑनलाइन मेसेजिंग प्लेटफार्म से प्रोफाइल पिक्चर डाउनलोड करने का ऑप्शन हटा दिया था, अपने बीटा वर्जन 2.19.319 ऐप जारी करके। फिलहाल अब कहा जा रहा है कि ये फीचर WhatsApp के अपडेटेड वर्जन पर भी डिसएबल हो गया है। कोई भी किसी प्रोफाइल पिक्चर को अब सेव नहीं कर पाएगा। दरअसल फोटो को सेलेक्ट करने के बाद शेयर का ऑप्शन ही नहीं आएगा जिससे तस्वीर गैलरी में सेव हो सके। डिजिट के अनुसार वेबसाइट ने ऐप में एंड्राइड वर्जन 2.19.140 के साथ-साथ गैलरी सुविधा को वाट्सऐप एंड्राइड वर्जन 2.19.140 पर डिसएबल पाया है।

ऐप में जुड़ा ये नया फीचर

डिजिट ने अपडेटेड WhatsApp पर एक एक्सपेरिमेंट किया। डिजिट के मुताबिक भले ही प्रोफाइल पिक्चर को डाउनलोड करने का ऑप्शन नहीं आ रहा हो पर कोई भी उसका स्क्रीनशाॅट तो ले ही सकता है। हालांकि WhatsApp ने प्रोफाइल पिक्चर को सेव करने का ऑप्शन डिसएबल क्यों किया, ये जानना अभी बाकी है। हो सकता है ऐप में बेहतर प्राइवेसी सुविधाएं अपडेट करने के बारे में सोचा जा रहा है पर अब तक इस बात की कोई अनाउंसमेंट नहीं हुई है। वहीं ऐसा लग रहा है कि कंपनी ऐप से कई और ऑप्शनों को रिमूव करना चाहती है जबकि आईओएस पर ऐप चलाने वाले लोगों के लिए कंपनी ने एक नया फीचर जारी किया है। वाट्सऐप यूजर्स आईओएस पर स्टीकर्स सेंड करने से पहले उसका फुल साइज प्रीव्यू देख पाएंगे। इसके लिए उन्हें बस नोटिफिकेशन को कुछ देर तक प्रेस किए रखना है। ऐप स्टोर से ये नया ऑप्शन वाट्सऐप वर्जन 2.19.51 को इंस्टाल करके इस्तेमाल किया जा सकता है।

Xiaomi Mi Band 4 की तस्वीरें लीक, कलरफुल डिस्प्ले के साथ जानें ये फीचर्स

Galaxy M40: 11 जून को लाॅन्च होने से पहले लीक हुए ये फीचर्स और दाम

एक वाट्सऐप काॅल से लीक होता था डेटा

कई वाट्सऐप न्यूज के अनुसार इसके काॅलिंग फीचर के जरिए लोगों की पर्सनल डीटेल्स लीक हुई हैं। कहा जा रहा है कि इसके जरिए साइबर क्रिमिनल्स किसी के फोन में जासूसी करने के लिए मेलवेयर इंजेक्ट कर सकते थे। ऐसा वाट्सऐप के पुराने वर्जन में होता था। खबरों की मानें तो ये स्पाईवेयर्स एक इजायली कंपनी एनएसओ ने बनाए थे जिनका क्रिमिनल्स ने गलत इस्तेमाल किया। लोगों के फोन की जानकारी निकालने के लिए क्रिमिनल्स को बस एक वाट्सऐप काॅल कर स्पाईवेयर को किसी के फोन में इंस्टाल करने के लिए बस एक वाट्सऐप काॅल करनी होती थी। इसके बाद वो मनचाहे तरीके से उस फोन को कंट्रोल कर कोई भी जानकारी लीक करते थे।

Posted By: Vandana Sharma

Technology News inextlive from Technology News Desk