कानपुर। भारत बनाम आॅस्ट्रेलिया के बीच चार मैचों की टेस्ट सीरीज का दूसरा टेस्ट शुकवार से पर्थ के आॅप्टस स्टेडियम में खेला जाएगा। इस मैदान पर यह पहला टेस्ट मैच होगा। इससे पहले दो वनडे मैच यहां खेले जा चुके हैं। इसके अलावा कर्इ घरेलू मैच भी यहां आयोजित हो चुके। इस मैदान की खासियत है कि यहां की पिच बाहर से बनकर आती है, जिसे 'ड्राॅप इन' पिच भी कहते हैं।

क्या होती है ड्राॅप इन पिच

जब कोर्इ क्रिकेट पिच मैदान से बाहर बनाकर यहां लार्इ जाती है उसे 'ड्राॅप इन' पिच कहते हैं। भारत में इस तरह की तकनीक का इस्तेमाल भले न होतो हो मगर आॅस्ट्रेलिया में 'ड्राॅप इन' पिचें आम बात हैं। आॅप्टस स्टेडियम की वेबसाइट पर उपलब्ध जानकारी के मुताबिक, आॅस्ट्रेलिया में 'ड्राॅप इन' पिचों का पहली बार इस्तेमाल 1996 में किया गया था। मौजूदा वक्त में आॅस्ट्रेलिया के पांच मैदानों मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड, स्पाॅटलेस स्टेडियम सिडनी, एतिहाद स्टेडयिम मेलबर्न, एडीलेड आेवल आैर आॅप्टस स्टेडयिम पर्थ में 'ड्राॅप इन' पिचों का इस्तेमाल किया जाता है। इन पिचों को मैदान से बाहर तैयार किया जाता है। इस विकेट में उसी मैदान की मिट्टी आैर घास का उपयोग किया जाता है। पिच बनाने के बाद वहां पर घरेलू मैच कराया जाता है ताकि उसकी टेस्टिंग हो सके। फिर इसे क्यूरेटर की निगरानी में मैदान में लाकर गाड़ दिया जाता। पिच को लाने के लिए बड़ी-बड़ी क्रेनों का इस्तेमाल किया जाता है।

जानें क्या होती है 'ड्राॅप इन' पिच,जिस पर खेला जा रहा भारत बनाम आॅस्ट्रेलिया टेस्ट मैच

एेसा होगा पिच का नेचर

भारत बनाम आॅस्ट्रेलिया के बीच दूसरा टेस्ट आॅप्टस स्टेडियम की 'ड्राॅप इन' पिच पर खेला जाएगा। पिच क्यूरेटर ब्रेट की मानें तो यह मैच पांच दिनों से पहले खत्म हो जाएगा। जो भी कप्तान यहां टाॅस जीतेगा वह पहले बाॅलिंग ही करेगा। यहां की पिच काफी उछाल भरी है।

तेज गेंदबाजों का रहता है दबदबा

आॅस्ट्रेलिया के आॅप्टस मैदान पर भले ही यह पहला टेस्ट मैच हो मगर इससे पहले जितने भी घरेलू मैच हुए उनमें तेज गेंदबाजों का दबदबा रहा। इस मैदान पर अभी तक कुल 54 विकेट गिरे जिसमें 43 विकेट तो तेज गेंदबाजों के नाम रहे। एेसे में उम्मीद है कि भारत बनाम आॅस्ट्रेलिया के बीच एक बेहतर जंग देखने को मिल सकती है। भारतीय टीम में इस समय जसप्रीत बुमराह, इशांत शर्मा आैर मोहम्मद शमी जिस रफ्तार के साथ गेंदबाजी कर रहे। उसे देखकर लगता है आॅप्टस की पिच उनके अनुकूल होगी।

Ind vs Aus : एक आैर टेस्ट जीत गए तो 86 सालों में भारत का विदेश में यह सबसे अच्छा प्रदर्शन होगा

आर्इपीएल 2019 : इस बार सबसे मंहगे खिलाड़ियों में कोर्इ भारतीय नहीं, 18 दिसंबर को होगी नीलामी

Posted By: Abhishek Kumar Tiwari

Cricket News inextlive from Cricket News Desk