कानपुर। भारत बनाम बांग्लादेश के बीच तीन मैचों की टी-20 सीरीज की शुरुआत हो चुकी है। पहला मैच दिल्ली में खेला गया जिसमें भारत को करारी हार मिली। अब दूसरा मुकाबला गुरुवार को राजकोट के सौराष्ट्र क्रिकेट स्टेडियम में खेला जाएगा। सीरीज में 0-1 से पिछड़ने के बाद कप्तान रोहित शर्मा दूसरे मैच में वापसी करना चाहेंगे। इसके लिए वह टीम में एक बदलाव कर सकते हैं। दिल्ली में हुए पहले मुकाबले में शिवम दुबे को डेब्यू का मौका मिला था मगर वह बल्ले और गेंद से कुछ खास नहीं कर पाए, ऐसे में रोहित इस खिलाड़ी को बाहर कर सकते हैं।

रोहित शर्मा

टीम इंडिया के उपकप्तान रोहित शर्मा को भारत-बांग्लादेश टी-20 सीरीज में कप्तान बनाया गया है। ऐसे में हिटमैन पर दोहरी जिम्मेदारी होगी। रोहित बतौर ओपनर दुनिया के सबसे खतरनाक बल्लेबाजों में शुमार है। इसमें कोई दो राय नहीं वही टी-20 कप्तानी में भी हिटमैन का कोई जवाब नहीं। रोहित अगर भारत को अच्छी शुरुआत दिलाते हैं तो भारत एक बड़े स्कोर तक आसानी से पहुंच सकता है। हालांकि पहले मैच में रोहित को अच्छी शुरुआत मिली थी मगर वह 10 रन बनाकर पहले ही ओवर में आउट हो गए जिसके चलते भारत बड़ा स्कोर नहीं खड़ा कर पाया।

शिखर धवन

भारतीय टीम प्रबंधन चाहेगा कि शिखर धवन अगले साल होने वाले टी 20 विश्व कप से पहले फॉर्म में आ जाए। धवन के लिए बीते कुछ महीने खास नहीं गुजरे थे। वर्ल्डकप के दौरान वह चोटिल हो गए थे। इसके बाद से गब्बर अपनी फाॅर्म को लेकर जूझ रहे हैं। हाल ही में दलीप ट्राॅफी में भी शिखर का बल्ला ज्यादा नहीं चला था मगर धवन ऐसे बल्लेबाज हैं जिनको वापसी के लिए सिर्फ एक मैच का इंतजार है। गब्बर ने पहले टी-20 में 41 रन बनाए थे मगर जिस अंदाज के लिए उन्हें जाना जाता है उस लय में धवन बल्लेबाजी नहीं कर पाए। दिल्ली में शिखर ने काफी धीमी पारी खेली थी।

केएल राहुल

शीर्ष क्रम के बल्लेबाज लोकेश राहुल को बल्लेबाजी लाइन अप में विराट कोहली की जगह भरनी होगी। राहुल को खराब फॉर्म के कारण टेस्ट टीम से बाहर कर दिया गया है। मगर क्रिकेट के इस छोटे फाॅर्मेट में राहुल अपनी प्रतिभा का सबूत पहले ही दे चुके हैं। ऐसे में इस बार सलेक्टर्स को दाएं हाथ के इस बल्लेबाज से फिर से अच्छी पारी की उम्मीद होगी। पहले मैच में राहुल ने 15 रन बनाए थे मगर बड़ी पारी खेलने में असफल रहे। वैसे भविष्य को देखते हुए राहुल को राजकोट में भी प्लेइंग इलेवन में जगह मिल सकती है।

श्रेयस अय्यर

मध्यक्रम के बल्लेबाज श्रेयस अय्यर को मौजूदा प्लेइंग XI में जगह मिलने की पूरी संभावना है। अय्यर स्कोर बोर्ड को लगातार चलाने में सक्षम है और तेजी से स्कोर भी कर सकते हैं। दिल्ली में खेले गए पहले टी-20 में अय्यर ने अपनी तूफानी बल्लेबाजी का छोटा सा उदाहरण भी दिया था। अय्यर ने 13 गेंदों में 22 रन की पारी खेली थी। इसमें दो छक्के भी शामिल हैं।

india vs bangladesh 2nd t20i playing xi: राजकोट टी-20 में बदल सकती है टीम इंडिया,ये खिलाड़ी हो सकता है बाहर

संजू सैमसन

युवा बल्लेबाज संजू सैमसन को 2015 में पदार्पण करने के बाद अपना दूसरा T20I खेलने की उम्मीद है। हालांकि पहले टी-20 में वह टीम का हिस्सा नहीं बन पाए थे। इस बार उम्मीद है कि शिवम दुबे की जगह सैमसन को भारतीय टीम के अंतिम ग्यारह खिलाड़ियों में चुना जाए। बता दें सैमसन को  घरेलू सर्किट में उत्कृष्ट प्रदर्शन के कारण टीम में शामिल किया गया और मुख्य चयनकर्ता ने पहले ही कहा था कि सैमसन बल्लेबाज के रूप में टीम में आते हैं, न कि बैक -उप विकेट-कीपर के।

ऋषभ पंत

विकेटकीपर-बल्लेबाज ऋषभ पंत इस श्रृंखला के लिए भारत के विकेट-कीपर हैं। एमएस धोनी की अनुपस्थिति में, पंत ने चमक बरकरार रखी है, लेकिन उन्हें बल्ले के साथ लगातार प्रदर्शन करना होगा। सलेक्टर्स को पंत पर काफी भरोसा है। पहले मैच में पंत ने 27 रन बनाए थे। कहा जाता है कि रिषभ शुरुआती 10 गेंदों में हवाई शाॅट खेलकर अपना विकेट गंवा देते हैं मगर दिल्ली में उन्होंने ऐसा नहीं किया।

क्रुणाल पांड्या

क्रुनाल पांड्या इस टीम में ऑल-राउंडर की भूमिका निभा सकते हैं। उन्होंने पक्ष में आने के बाद से बल्ले और गेंद दोनों से काफी अच्छा प्रदर्शन किया है और आगामी श्रृंखला में बांग्लादेश के खिलाफ भी ऐसा ही जारी रहेगा। दिल्ली के धीमे ट्रैक पर उनकी फिरकी के आने की संभावना है।

वाशिंगटन सुंदर

स्पिनर वाशिंगटन सुंदर को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ विकेट नहीं मिले थे। ऐसे में यह युवा गेंदबाज बांग्लादेश के खिलाफ अच्छी गेंदबाजी कर अपना विकेटों का सूखा खत्म करना चाहेगा। टीम में कुलदीप यादव नहीं होने के कारण सुंदर को दिल्ली टी 20 के लिए एकादश में जगह मिलनी चाहिए।

युजवेंद्र चहल

लेग स्पिनर युजवेंद्र चहल भी लंबे वक्त से टीम इंडिया से अंदर-बाहर हो रहे। मगर क्रिकेट के इस छोटे फाॅर्मेट में वह मौजूदा टीम में सबसे अनुभवी स्पिनर हैं।

दीपक चाहर

मध्यम-तेज गेंदबाज दीपक चाहर सबसे छोटे प्रारूप में टीम में आने के बाद से लगातार बेहतर होते ता रहे हैं। खासतौर से पाॅवरप्ले में दीपक चाहर की गेंदबाजी देखने लायक होती है।

खलील अहमद

दीपक चाहर के साथ टीम इंडिया खलील अहमद के रूप में अपना पेस अटैक मजबूत करना चाहेगी। खलील का पिछला प्रदर्शन काफी लाजवाब रहा था।

Posted By: Abhishek Kumar Tiwari

Cricket News inextlive from Cricket News Desk