श्रीनगर (आईएएनएस)। जम्मू-कश्मीर में आर्टिकल 370 हटने के बाद हालाताें का जायजा लेने के लिए शनिवार को कांग्रेस नेता राहुल गांधी कई विपक्षी नेताओं के साथ दाैरा करने वाले हैं। इस दाैरान उनके साथ गुलाम नबी आजाद, आनंद शर्मा जैसे कई नेता माैजूद रहेंगे।प्रतिनिधिमंडल वहां के स्थानीय लोगों और पार्टी नेताओं से मुलाकात करेगा। हालांकि राहुल के इस दाैरे को टालने के लिए जम्मू-कश्मीर प्रशासन लगातार अपील कर रहा है।

स्थानीय लोगों को असुविधा में डालेंगे ये नेता

जम्मू-कश्मीर के सूचना और जनसंपर्क विभाग ने ट्वीट्स भी किए हैं। ट्वीट्स के जरिए सभी नेताओं से श्रीनगर न आने का आग्रह किया है। प्रशासन का कहना है कि विपक्षी नेताओं के दौरे से स्थानीय लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ेगा। राजनेताओं से अनुरोध है कि वे सहयोग करें और श्रीनगर का दौरा न करें क्योंकि वे अन्य लोगों को असुविधा में डाल रहे होंगे। वे उन प्रतिबंधों का भी उल्लंघन कर रहे हैं जो अभी भी वहां पर हैं।

डोनाल्ड ट्रंप ने इमरान खान से कहा, कश्मीर तनाव द्विपक्षीय वार्ता के जरिए करें कम

स्थानीय नेताओं को नजरबंद किया गया था

बता दें कि बीते 5 अगस्त को जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 के सभी प्रमुख प्रावधानों को खत्म करने का फैसला लिया गया था। कांग्रेस समेत कई विपक्षी दल 370 को हटाने और राज्य को दो केंद्र शासित प्रदेशों में बांटने के सरकार के फैसले का लगातार विरोध कर रहे हैं। ऐसे में इस फैसले के बाद से ही राज्य में कई तरह की बंदिशें लगा दी गई थी। हालातों को संभालने के लिए कुछ स्थानीय नेताओं को नजरबंद कर दिया गया था।

Posted By: Shweta Mishra

National News inextlive from India News Desk