-उत्तर प्रदेश सरकारी निर्माण गृह संघ में नौकरी दिलाने का दिया झांसा

- पीडि़त ने वकीलों के साथ पहुंचकर एसएसपी से की शिकायत

Meerut: ब्रह्मापुरी थाना क्षेत्र में सरकारी नौकरी लगवाने के नाम पर युवक से दस लाख रुपए की ठगी करने का मामला प्रकाश में आया है. पीडि़त ने शुक्रवार को दर्जनों अधिवक्ताओं के साथ पुलिस कार्यालय में जाकर प्रदर्शन किया. साथ ही एसएसपी को शिकायती पत्र देकर कार्रवाई की मांग की है. एसएसपी ने संबंधित थाना अध्यक्ष को मामले की जांच करने के लिए कहा है.

ये है मामला

पीडि़त मुकुल गोयल ने बताया कि 6 फरवरी 2016 को सचिन व नितिन नाम के दो युवक चाचा के लड़कों के साथ उनके घर आए, और उनके सामने सरकारी जॉब दिलाने व शेयर होल्डर बनाने का झांसा दिया. विश्वास होने पर उन्होने उनके कहे अनुसार उन्हे 10 लाख रुपए दे दिए.

डाक से आया लेटर

करीब 15 दिन बाद डाक द्वारा उनके घर सरकारी निर्माण गृह से जॉब का ज्वाइन लेटर पहुंचा. जिसके आधार पर उसने छह माह तक हापुड़ में जॉब की. जिसकी उसे तीन माह तक सैलरी भी मिली. लेकिन तीन माह बाद सैलरी मिलनी बंद हो गई. इसके बाद कुछ दिन पहले उसे वहां से जाने के लिए कहा गया. लोगों से बात की तो उन्होने बताया कि सरकार ने यह विभाग ही बंद कर दिया है, अब वे कुछ नहीं कर सकते.

दी तहरीर

इसकी तहरीर उन्होने तीन दिन पहले थाना ब्रहमपुरी में दी थी. लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हो रही थी. जिसके बाद उसे एसएसपी से शिकायत करने आना पड़ा.

वर्जन

अभी मामले की जांच की जा रही है. आरोप सिद्ध होने पर कार्रवाई निश्चित है.

दीपक शर्मा , इंस्पेक्टर ब्रहमपुरी थाना

पहले भी हो चुकी हैं ठगी

-1 जनवरी 2016 को मेरठ कालेज के दो छात्रों से नौकरी के नाम पर ठगी

-3 दिसंबर 2015 को जागृति विहार के एक युवक से 5 लाख रुपए लेकर फर्जी कॉल लेटर भेजने का मामला दर्ज हुआ था

--