- जिला अस्पताल के कई विभागों में डॉक्टर्स की भरमार तो कई चल रहे खाली

- हर बार अस्पताल प्रशासन भेजता डिमांड फिर भी नतीजा सिफर

- नहीं हैं न्यूरो सर्जन, प्लास्टिक सर्जन व नेफ्रोलॉजिस्ट

GORAKHPUR: जिला अस्पताल की ओपीडी में डेली दो से तीन हजार मरीज इलाज के लिए पहुंचते हैं फिर भी अस्पताल में डॉक्टर्स की कमी पूरी नहीं हो पा रही है. जिसके चलते कई ओपीडी में तो इलाज तक नहीं हो पा रहा है. अस्पताल में डॉक्टर्स के 52 पद स्वीकृत हैं लेकिन मौजूदा समय में 38 डॉक्टर्स ही सेवाएं दे रहे हैं. वहीं, 15 पद ऐसे हैं जो काफी वक्त से खाली चल रहे हैं. जबकि लगभग दस से अधिक डॉक्टर छुट्टी और अनुपस्थित चल रहे हैं. वहीं कई विभागों में संविदा से लेकर रेग्युलर डॉक्टर्स की भरमार है तो कई डिपार्टमेंट ऐसे हैं जो काफी समय से खाली चल रहे हैं. अस्पताल प्रशासन की तरफ से बार-बार डिमांड भेजने का दावा किया जाता है लेकिन फिर भी समस्याएं बरकरार हैं.

भगवान भरोसे व्यवस्था

सूबे की सरकार स्वास्थ्य सेवा को सुदृढ़ कर सबको बेहतर चिकित्सा देने की कवायद में जुटी है. इसके बावजूद सरकारी अस्पतालों की व्यवस्था पटरी पर नहीं आ पा रही है. गोरखपुर जिला अस्पताल की ही बात करें तो यहां डॉक्टर्स की कमी ने व्यवस्था को बेपटरी कर रखा है. यहां अरसे से डॉक्टर्स की कमी बनी हुई है. हालांकि इस कमी को दूर करने के लिए 12 संविदा पर डॉक्टर्स रखे गए हैं लेकिन उस विभाग में पहले से डॉक्टर्स की अधिकता है. लेकिन कुछ ऐसे विभाग हैं जो काफी समय से खाली चल रहे हैं जिन्हें आज तक भरा नहीं जा सका है. अस्पताल में डॉक्टर्स के 52 पद स्वीकृत है. लेकिन वर्तमान में केवल 28 डॉक्टर सेवाएं दे रहे हैं और करीब दस डॉक्टर ऐसे हैं जो अनुपस्थित और छुट़टी पर चल रहे हैं. जबकि प्रतिदिन अस्पताल में दो से तीन हजार मरीजों का इलाज होता है.

अस्पताल में नहीं हैं एनेस्थेटिक

जिला अस्पताल में काफी समय से रेग्युलर एनेस्थेटिक की कमी है. हालांकि इस कमी को दूर करने के लिए अस्पताल प्रशासन की गुजारिश के बाद देवरिया जिले से एक डॉक्टर को अटैच किया गया है जबकि अस्पताल में एनेस्थेटिक के तीन पद स्वीकृत हैं. वर्तमान में अस्पताल की व्यवस्था एक एनेस्थेटिक के भरोसे है. जिससे मरीजों के ऑपरेशन में भी दिक्कत आ रही है.

जिला अस्पताल में डॉक्टर

विशेषज्ञ स्वीकृत पद कार्यरत खाली पद

एनेस्थेटिक - 3 0 3

कार्डियोलॉजिस्ट- 2 3 0

ईएनटी - 2 2 0

नेत्र सर्जन - 3 3 0

नेफ्रोलॉजिस्ट - 1 0 0

न्यूरो सर्जन - 1 0 0

न्यूरो फिजिशियन- 1 0 0

बाल रोग विशेषज्ञ - 3 7 0

पैथोलॉजिस्ट - 3 4 0

फिजिशियन - 3 1 2

प्लास्टिक सर्जन - 2 0 2

मनोरोग विशेषज्ञ - 1 0 1

चेस्ट विशेषज्ञ - 2 2 0

रेडियोलॉजिस्ट - 3 3 0

आर्थो सर्जन - 3 3 0

चर्म रोग विशेषज्ञ - 1 1 0

यूरोलॉजिस्ट - 1 0 1

सर्जन - 5 3 2

ईएमओ - 7 2 5

चिकित्साधिकारी - 3 2 1

चिकित्सा अधीक्षक- 1 1 0

प्रमुख अधीक्षक - 1 1 0

संविदा पर कार्यरत डॉक्टर

डॉक्टर कार्यरत

ईएनटी 1

आर्थो 1

बाल रोग 2

चेस्ट रोग 2

फिजिशियन 1

ईएमओ 1

वर्जन

अस्पताल में डॉक्टर्स की कमी है लेकिन पूरा प्रयास किया जा रहा है कि मरीजों को किसी भी तरह की असुविधा न होने पाए. खाली पदों पर डॉक्टर्स की नियुक्ति के लिए शासन को पत्र भेजा जा चुका है. उम्मीद है कि जल्द ही रिक्त पदों पर नियुक्ति हो जाएगी. इसके बाद सारी समस्या खत्म हो जाएगी.

- डॉ. आरके गुप्ता, एसआईसी, जिला अस्पताल