नई दिल्ली (आईएएनएस)घरेलू ब्रांड 'लावा' ने शनिवार को अपने पूरे मोबाइल आरएंडडी डिजाइन और मैन्युफैक्चरिंग को अगले छह महीनों के भीतर चीन से भारत में शिफ्ट करने की घोषणा की है। इसी तरह, कंपनी देश में लगभग 800 करोड़ रुपये का निवेश करने जा रही है। लावा अपने फोन का 33 प्रतिशत से अधिक निर्यात मैक्सिको, अफ्रीका, दक्षिण पूर्व एशिया और पश्चिम एशिया जैसे बाजारों में करता है। लावा इस वर्ष लगभग 80 करोड़ रुपये का निवेश करेगा और अगले पांच वर्षों में इसकी लगभग 800 करोड़ रुपये के निवेश की तैयारी है। कंपनी ने एक बयान में कहा, भारतीय मोबाइल फोन निर्माताओं ने पिछले महीने सरकार द्वारा घोषित प्रोडक्शन लिंक्ड इंसेंटिव स्कीम (पीएलआई) योजना से खूब फायदा कमाया है, इसी के बाद इस तरह का निर्णय लिया गया है।

600 कर्मचारी वापस काम पर लौटे

लावा के चेयरमैन और प्रबंध निदेशक हरिओम राय ने कहा, 'हम बेसब्री से अपने पूरे मोबाइल आरएंडडी, डिजाइन और मैन्युफैक्चरिंग को चीन से भारत में शिफ्ट करने की प्रतीक्षा कर रहे हैं। उत्पादन से जुड़े प्रोत्साहन के साथ, विश्व बाजार के लिए हमारी मैन्युफैक्चरिंग अक्षमता काफी हद तक पूरी हो जाएगी, इसलिए हम इस बदलाव की योजना बना रहे हैं।' बता दें कि लावा वर्तमान में अपने निर्यात के लिए दो-स्तरीय रणनीति का पालन करता है - एक अपने ब्रांड के तहत फोन बेचकर और दूसरा इलेक्ट्रॉनिक कंपनियों के लिए उत्पादों का निर्माण करके। बता दें कि घरेलू मोबाइल ब्रांड लावा ने पिछले सप्ताह नोएडा में अपनी मैन्युफैक्चरिंग फैसिलिटी में 20 प्रतिशत उत्पादन क्षमता के साथ उत्पादन को फिर से शुरू किया। इस तरह लगभग 600 कर्मचारी अब कारखाने में वापस आ गए हैं।

Posted By: Mukul Kumar

Business News inextlive from Business News Desk

inext-banner
inext-banner