1996 वर्ल्ड कप सेमीफाइनल जब श्रीलंका से इंडिया को हारता देख फैंस ने कुर्सियों में लगा दी थी आग

2019-03-13T08:52:01Z

वर्ल्ड कप 2019 शुरु होने में अब ज्यादा वक्त नहीं बचा। दुनिया भर के क्रिकेट प्रेमी अपनी टीम को जीतते देखना चाहते हैं। हालांकि हर बार ऐसा नहीं होता। आज से 25 साल पहले कोलकाता में एक ऐसा वर्ल्ड कप सेमीफाइनल खेला गया जो खिलाड़ियों नहीं बल्कि दर्शकों के चलते चर्चा में रहा।

कानपुर। क्रिकेट जगत में कई ऐसे मैच खेले गए जो खेल से इतर किसी और वजह से चर्चा में रहे। ऐसा ही एक मैच 25 साल पहले 1996 वर्ल्ड कप में खेला गया था। भारत और श्रीलंका की टीमें कोलकाता के ईडन गार्डन में आमने-सामने थीं। आखिर में जब मैच श्रीलंका के पक्ष में जाने लगा तो भारतीय फैंस ने बवाल करना शुरु कर दिया। मैदान में बोतलें फेंकी गई। हद तो तब हुई जब गुस्साई भीड़ ने स्टेडियम में आग लगा दी। आइए जानें आखिर इसकी वजह क्या थी..
13 मार्च का वो बुरा दिन
क्वॉटर फाइनल में चिर-प्रतिद्वंदी पाकिस्तान को हराकर सेमीफाइनल में पहुंची भारतीय टीम का सामना श्रीलंका से था। ऐसे में भारतीय प्रशंसको का उत्साह भी चरम पर था। क्रिकइन्फो पर उपलब्ध जानकारी के मुताबिक, मैच कोलकाता के ईडन गार्डन में खेला गया। हर तरफ इंडिया-इंडिया का शोर था। खैर टॉस हुआ तत्कालीन भारतीय कप्तान मो. अजहरुद्दीन ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी का निर्णय लिया। श्रीलंका की तरफ से ओपनिंग करने आए सनथ जयसूर्या और कलुविथराना, मगर उस वक्त तेज भारतीय गेंदबाज जवागल श्रीनाथ ने दोनों को सस्ते में चलता किया। इसके बाद गुरुसिन्हा के रूप में तीसरा विकेट भी श्रीनाथ के खाते में गया। श्रीलंका टीम की आधी कमर टूट चुकी थी। सभी को लगा कि अब श्रीलंकन टीम ज्यादा स्कोर नहीं कर पाएगी। मगर बाद में अरविंद डी सिल्वा (66) और महानमा (58) ने बड़ी और उपयोगी साझेदारी कर श्रीलंका का स्कोर 251 तक पहुंचा दिया। अब भारत को जीत के लिए 252 रन चाहिए थे।

#OnThisDay in 1996, a World Cup semi-final at Eden Gardens that ended in shame and tears for Indiahttps://t.co/LIbxA2qQmK #ThrowbackTuesday pic.twitter.com/vpX4uusFOl

— ESPNcricinfo (@ESPNcricinfo) March 13, 2018


यह मैच कभी पूरा नहीं हो सका
वर्ल्डकप फाइनल में पहुंचने के लिए भारत को यह मैच जीतना जरूरी था। सचिन तेंदुलकर और नवजोत सिंह सिद्धू भारत की तरफ से ओपनिंग करने आए। सिद्धू तो 3 रन पर चलते बने, मगर सचिन एक छोर पर टिके रहे। इसके बाद बैटिंग करने आए संजय मांजरेकर, वो भी 25 रन बनाकर पवेलियन लौट गए। अब भारत को जीत दिलाने की जिम्मेदारी 5वें नंबर पर बैटिंग करने आए अजहर और सचिन पर थी। मगर उस दिन किस्मत भारत के साथ नहीं थी। कलाईयों का जादूगर अजहर जीरो पर आउट हो गया। इसके बाद मानों विकेटों की झड़ी लग गई। सचिन भी 65 रन पर आउट हो गए। भारत की पारी के अभी 34 ओवर ही पूरे हुए थे और 2 विकेट बाकी थे, मगर मैच बीच में रोक दिया गया। वजह थी भारतीय दर्शक।
स्टेडियम में लगा दी गई थी आग
दर्शकों को लगा कि अब भारत का यह मैच जीत पाना मुश्किल है। फैंस ने स्टेडियम में बवाल करना शुरु कर दिया। मैदान में बोतलें फेंकी गईं। हद तो तब हो गई, जब सीटों पर आग लगा दी गई। मैच को तुरंत ही रोकना पड़ा और मैच रेफरी ने श्रीलंका को विजेता घोषित कर दिया।
आज खेला गया था वनडे क्रिकेट का सबसे रोमांचक मैच, नशे में बल्लेबाजी कर रहा था खिलाड़ी
भारत से जीत छीनने वाले एस्टन टर्नर IPL 2019 में खेलेंगे इस टीम से

 


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.