झूमकर चलेगा आपके घर का वाईफाई अगर अपनाएंगे ये 5 टिप्‍स

2018-10-02T08:45:27Z

आजकल घरों में होम वाईफाई का इस्तेमाल तो आम हो गया है लेकिन ज्यादातर लोग अलगअलग कमरों में वाईफाई रिसीव करने में दिक्कत महसूस करते हैं। कहीं तो यह तेज चलता है और कहीं वाईफाई ठीक से रिसीव भी नहीं होता। ऐसे में यह 5 टिप्स आपके होम वाईफाई को जबरदस्त ढंग से बूस्ट कर देंगे और आप इसका पूरा मजा ले पाएंगे।

1- वाईफाई को रखिए हमेशा घर के सेंटर में
कानपुर। किसी भी घर में वाई-फाई राउटर की रेंज और क्षमता को बढ़ाने के लिए यह जरूरी है कि वाईफाई राउटर को घर के बीचो-बीच रखा जाए ताकि इसका नेटवर्क पूरे घर में समान रूप से फैल सके। आमतौर पर यूजर्स अपने वाईफाई राउटर को घर में किसी कमरे के एक कोने या फिर खिड़की के पास रख देते हैं। इस कारण वाईफाई राउटर से निकलने वाला ओमनी डायरेक्शनल सिग्नल पूरे घर में ना फैल कर घर से बाहर भी निकल सकता है। और इससे कई कमरों में इंटरनेट एक्सेस में दिक्कत भी हो सकती है। इसके अलावा वाईफाई राउटर को अपने आई लेवल के आस पास रखना चाहिए ना कि बहुत नीचे।

2- वाईफाई नेटवर्क का दुरुपयोग रोकने के लिए बनाइए गेस्ट नेटवर्क
कई बार आपके घर में आने वाले तमाम गेस्ट और फ्रेंड भी वाईफाई नेटवर्क से जुड़ना चाहते हैं ऐसे में आप अपने वाईफाई के प्राइमरी पासवर्ड को किसी के साथ शेयर ना करें। बल्कि आप राउटर में गेस्ट नेटवर्क का ऑप्शन ऑन कर दें। वाईफाई राउटर की एडमिन सेटिंग्स में जाने पर आपको वायरलेस टैब के भीतर गेस्ट नेटवर्क का एक ऑप्शन मिलेगा। जहां आप इसे क्रिएट करके उसे कोई नाम दे सकते हैं, उसके लिए कोई आसान सा पासवर्ड बना सकते हैं, साथ ही उससे जुड़ने वाले यूजर्स की अधिकतम संख्या भी निर्धारित कर सकते हैं। ताकि आपके वाईफाई नेटवर्क पर जरूरत से एक सीमा से ज्यादा लोड ना पड़े।

3- समान सिग्नल मेंटेन करने के लिए अपनाएं रिपीटर
घर या अपार्टमेंट के अलग-अलग कमरों में वाईफाई नेटवर्क को एक लेवल पर बनाए रखने के लिए आपको रिपीटर डिवाइस का इस्तेमाल करना चाहिए। ताकि इसके द्वारा किसी एक जगह पर रखे गए वाईफाई सिग्नल को सभी कमरों या पूरे अपार्टमेंट में सही तरह से डिस्ट्रीब्यूट किया जा सके। यह घर के समय रिपीट यानी बूस्ट सकता है ताकि सभी जगहों पर इंटरनेट की एक्सेस बराबर रूप से हो सके।

4- समय-समय पर बदलते रहें वाईफाई राउटर का पासवर्ड
हम में से तमाम लोग कभी ना कभी अपने पड़ोसी, फ्रेंड सर्किल या रिश्तेदारों के साथ अपने वाईफाई का पासवर्ड शेयर कर ही देते हैं लेकिन इस कारण कभी कभी आपके वाईफाई नेटवर्क का बेजा इस्तेमाल शुरू हो जाता है। इसे रोकने के लिए कुछ दिनों में यानी करीब 3 से 6 महीनों में अपने वाईफाई राउटर का पासवर्ड बदलते रहिए ताकि कोई भी आपके इंटरनेट नेटवर्क की चोरी ना कर सके।

5- वाईफाई राउटर पर बनाएं शेयर्ड स्टोरेज
अगर आपके वाईफाई राउटर में यूएसबी पोर्ट मौजूद है तो बता दें कि यह आपके लिए बहुत काम की चीज है। जी हां आप इस पोर्ट पर कोई भी एक्सटर्नल हार्ड डिस्क कनेक्ट कर सकते हैं। जिसका फायदा यह होगा कि इस वाईफाई नेटवर्क पर आप एक नेटवर्क स्टोरेज भी क्रिएट कर पाएंगे। उस नेटवर्क से जुड़े कई लोग आपस में आसानी से डाटा शेयर कर सकेंगे और कॉमन रूप से वायरलेस प्रिंटर का भी इस्तेमाल कर सकेंगे।

गूगल ला रहा है ऐसी टैबलेट जिसमें होंगे 2 ऑपरेटिंग सिस्टम, विंडोज 10 का भी होगा साथ

ये इंटरनेट टूल्स हैं कमाल, जो ऑफिस सीट पर बैठे-बैठे ही आपको बना देंगे हेल्दी एंड फिट

हाथ से टाइपिंग करना भूल जाइए... बोलकर अपनी भाषा में कीजिए टाइप, ये ऐप्स दिल खुश कर देंगी

Posted By: Chandramohan Mishra

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.