अब्दुल कादिर के निधन पर तेंदुलकर ने उन्हें ऐसे किया याद, सचिन बनाम कादिर मुकाबला हमेशा रहा खास

Updated Date: Sat, 07 Sep 2019 03:15 PM (IST)

पूर्व पाक क्रिकेटर अब्दुल कादिर के निधन पर सचिन तेंदुलकर ने टि्वटर पर उन्हें श्रद्घांजलि दी है। बता दें क्रिकेट मैदान पर सचिन बनाम कादिर का मुकाबला हमेशा से रोचक रहा है।

नई दिल्ली (एएनआई)। पूर्व भारतीय क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर ने शनिवार को लाहौर में 63 साल की उम्र में कार्डियक अरेस्ट के कारण पाकिस्तान के पूर्व लेग स्पिनर अब्दुल कादिर के निधन पर दुख व्यक्त किया। सचिन ने ट्विटर पर कादिर को अपने समय के सर्वश्रेष्ठ स्पिनर्स का दर्जा देते हुए लिखा, 'अब्दुल कादिर के खिलाफ खेलना आज भी याद है, अपने समय के सर्वश्रेष्ठ स्पिनरों में से एक। उनके परिवार के प्रति संवेदना। RIP'।
कादिर के खिलाफ मारे थे एक ओवर में चार छक्के
क्रिकेट के भगवान सचिन तेंदुलकर ने 1989 में 16 साल की उम्र में अपने करियर की शुरुआत की थी और उन्हें पाकिस्तान दौरे के दौरान कुछ बेहतरीन गेंदबाजों का सामना करना पड़ा था। तब पाकिस्तान की गेंदबाजी लाइनअप में इमरान खान, अब्दुल कादिर, वसीम अकरम और वकार यूनिस जैसे गेंदबाज शामिल थे। इस दौरे पर भारत को पाक के खिलाफ एक प्रदर्शनी मैच खेलना था, और इस मैच में तेंदुलकर ने एक ही ओवर में कादिर को चार छक्के मारे थे। इस मैच में तेंदुलकर सिर्फ 18 गेंदों पर 53 रन बनाने में सफल रहे थे। कादिर द्वारा फेंके गए एक ओवर में तेंदुलकर ने 27 रन बनाए थे जिसमें चार छक्के शामिल थे।

Remember playing against Abdul Qadir, one of the best spinners of his times. My heartfelt condolences to his family. RIP. pic.twitter.com/iu03d45sJ0

— Sachin Tendulkar (@sachin_rt) September 7, 2019
ऐसा रहा है इंटरनेशनल करियर
63 साल के कादिर को उनकी यूनिक गेंदबाजी के लिए जाना जाता है। वह अलग एक्शन में आकर गेंदबाजी करते थे जिसके चलते उन्हें 'डांसिंग बाॅलर' कहा जाता था। कादिर ने पाकिस्तान के लिए 67 टेस्ट मैच खेले जिसमें 236 विकेट अपने नाम किए। वहीं वनडे में उन्होंने 104 मैच खेलकर 132 विकेट चटकाए। कादिर ने अपना आखिरी इंटरनेशनल मैच 1993 में श्रीलंका में खेला था।

एक ओवर में छह प्रकार की गेंद फेंकने वाले पाक क्रिकेटर अब्दुल कादिर का निधन

एक ओवर में फेंकते थे छह तरह की गेंद
अब्दुल कादिर स्पिन कला में माहिर थे। वह एक ओवर में छह तरह की गेंदें फेंकते थे। यही नहीं कादिर का कहना था वह दो तरह की गुगली भी फेंक लेते थे।

 

Posted By: Abhishek Kumar Tiwari
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.