शनिदेव हुए मार्गी सबको मिलेगा फायदा

2019-02-07T06:02:45Z

गुरुवार को शाम चार बजे के बाद शनिदेव सीधी चाल से धनु राशि में करने लगे संचरण

ALLAHABAD: ग्रह मंडल में न्यायाधीश की पदवी धारण करने वाले शनिदेव वक्री गति को छोड़कर अब मार्गीय यानि6 सीधी गति में हो गए हैं। पिछले पांच महीनों से देव गुरु बृहस्पति में उल्टी चाल चलने के बाद शनिदेव गुरुवार को शाम चार बजे के बाद धनु राशि में संचरण करने लगे हैं। उत्थान ज्योतिष संस्थान के निदेशक पं। दिवाकर त्रिपाठी पूर्वाचली की मानें तो शाम सवा चार बजे से पुष्य नक्षत्र और व रियान योग में शनिदेव मार्गी हो चुके हैं। शनिदेव का मार्ग परिवर्तन अगले चार महीनों तक सभी राशियों के जातकों पर सकारात्मक असर दिखाएगा।

समाज में आएगी खुशहाली

शनिदेव के मार्गी होने का असर सभी बारह राशियों के जातकों के अलावा समाज में व्याप्त असंतोष को दूर करते हुए खुशहाली लाने वाला साबित होगा। ज्योतिषाचार्य पं। विद्याकांत पांडेय ने बताया कि शनि पेट्रोलियम, माइंस, जनता के सेवक व निम्न वर्गो के कारक ग्रह हैं। उनके वक्री होने पर देश के अलग-अलग हिस्सों में पिछले पांच महीनों से उथलपुथल मची हुई थी। अब मार्गीय होते ही समाज में खुशहाली का माहौल कायम होगा।

राशियों पर प्रभाव

मेष : पराक्रम में वृद्धि व आर्थिक लाभ

वृषभ : अचानक से प्रगति व रुका धन मिलने के आसार

मिथुन : आर्थिक स्थिति मजबूत व पारिवारिक तनाव खत्म

कर्क : रोग ऋण से मुक्ति व शत्रुओं पर विजय

सिंह : दाम्पत्य में सुधार व पदोन्नति का योग

कन्या : नए वाहन का योग व पराक्रम में वृद्धि

तुला : लम्बे विवाद का समाधान व धन की प्राप्ति

वृश्चिक : मानसिक तनाव से मुक्ति

धनु : उन्नति का राह प्रशस्त व शारीरिक कष्ट दूर

मकर : विदेश यात्रा का योग व नए वाहन का योग

कुंभ : आय के नए साधन व पदोन्नति का अवसर

मीन : सम्मान में कमी व अड़चनों में वृद्धि

शनिदेव धनु राशि में मार्गीय हो गए हैं। इसका सकारात्मक असर सभी राशियों पर पड़ेगा। अगले चार महीनों तक किसी में थोड़ा तो किसी जातक की राशि के अनुसार जीवन में अधिक से अधिक खुशहाली का संचरण होगा।

प। दिवाकर त्रिपाठी पूर्वाचली, ज्योतिषाचार्य


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.