टीपीसी का आ‌र्म्स सप्लायर गिरफ्तार

2015-06-15T07:01:39Z

क्कन्रुन्रू :हुसैनाबाद थाना के अमन-चैन मुहल्ला से पुलिस ने टीपीसी का आ‌र्म्स सप्लायर को शनिवार की आधी रात को गिरफ्तार कर लिया। पकड़ा गया नक्सली सप्लायर पप्पू पासवान बिहार के औरंगाबाद जिला के बाघा डाबर गांव का निवासी है। गिरफ्तारी के बाद पप्पू को बिहार के औरंगाबाद जिला के टंडवा थाना पुलिस को सुपुर्द कर दिया है। हुसैनाबाद के थाना प्रभारी संतोष गुप्ता ने बताया कि गुप्त सूचना के आधार पर सब्या कुंवर के घर छापामारी की गई।

गेट नहीं खोला था

छापामारी के दौरान मकान मालकिन ने मुख्य गेट नहीं खोला तो दूसरे मकान की छत से मकान में प्रवेश कर उसे तीन मंजिला छत के करकट से गिरफ्तार किया गया। उन्होंने बताया कि पप्पू पासवान टीपीसी को आर्मस सप्लाई के अलावा डकैती व आपराधिक कांडों का भी आरोपी है। उन्होंने कहा कि गत दिनो औरंगाबाद जिला के टंडवा में हुई बैंक लूट की घटना में भी वह शामिल था। पुलिस को इसका सुराग मिला है। थाना प्रभारी श्री गुप्ता ने बताया कि पप्पू पासवान के विरुद्ध बिहार के कई थानों में दर्जनों आपराधिक मामले दर्ज हैं। टंडवा थाना प्रभारी अनिल कुमार दुबे ने बताया कि पप्पू पासवान की बिहार पुलिस को काफी दिनों से तलाश थी। इधर स्व। प्रवीण सिंह की विधवा सब्या कुंवर ने पुलिस के समक्ष बताया कि पप्पू पासवान उनके मकान में किराया पर रहता था।

तीन बच्चों के साथ ट्रेन से कटकर महिला ने दी जान

ष्द्धड्डद्मह्मड्डस्त्रद्धड्डह्मश्चह्वह्म : चक्रधरपुर रेल मंडल के गोइलकेरा व टुनिया स्टेशनों के बीच बारी गांव के समीप एक महिला ने अपने तीन च्च्चों के साथ ट्रेन से कटकर खुदकुशी कर ली। च्च्चों में तीन माह के एक दुधमुंहे बेटे के अलावा आठ साल का बेटा व चार साल की बेटी शामिल है। घटना शनिवार देर रात की है। पुलिसिया जांच में घटना की वजह पारिवारिक कलह बताया जा रहा है। सूचना मिलने के बाद सोनुवा के थाना प्रभारी बृजलाल राम सदल बल मौके पर पहुंचे। उन्होंने रेलवे ट्रैक पर पड़े चारों शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

यह है मामला

जानकारी के अनुसार बारी पंचायत के मोचीसाई के रमाय तियू की पत्नी मुक्ता तियू ने अपने 8 वर्षीय बेटे आकाश तियू, 4 साल की बेटी पायल तियू व दुधमुंहे राजा तियू के साथ बारी रेलवे क्रा¨सग के समीप डाउन लाइन में ट्रेन से कटकर खुदकुशी कर ली। उनके शव रेलवे किलोमीटर पोल संख्या 338/26 से लेकर 339/14 तक बिखरे हुए थे। शवों की हालत ऐसी थी कि पहचानना मुश्किल था। मुक्ता तियू का मायका गोइलकेरा प्रखंड के कोनैना गांव में है। रमाय तियू के साथ उसकी शादी लगभग 10 साल पहले हुई थी। ग्रामीणों के अनुसार पति पत्नी शनिवार को रजो संक्राति पर्व मनाने पंचायत के ही दूसरे टोले में गए थे। घर वापस आने के बाद दोनों में झगड़ा हुआ था। इधर घटना स्थल पर पहुंची पुलिस ने मृतका के पति रमाय तियू से पूछताछ की। उसने पत्नी से झगड़े की बात स्वीकार की। लेकिन यह भी कहा कि वह ऐसा कदम उठाएगी इसके बारे में नहीं सोचा था। झगड़े के बाद रात में अकेले सोया था। जबकि उसी कमरे में मुक्ता अपने तीनों च्च्चों के साथ नीचे जमीन पर बिस्तर लगाकर सोयी थी। पति के अनुसार आधी राम में जब उसकी नींद खुली तो उसने पत्नी व च्च्चों को कमरे से नदारद पाया। उसने दरवाजा खोलने की कोशिश की तो पता चला कि बाहर से कुंडी लगी हुई है। फिर उसने शोर मचाकर अपने परिजनों को जगाया और दरवाजा खोलने को कहा। इसके बाद सभी लोग रात में ही वह महिला वच्बच्चों को ढूंढने निकल गए। लेकिन सफलता नहीं मिली। फिर सुबह यह सोचकर टुनिया स्टेशन की तरफ तलाश करने निकले कि कहीं सारंडा पैसेंजर से पत्नी मायके न चली जाए। लेकिन रास्ते में ही रमाय को पत्नी वच्बच्चों के शव देखे जाने की जानकारी मिली।


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.