कश्मीर में पहली बार तैनात महिला सैनिकों का प्रभाव सकारात्मक: असम राइफल्स

Updated Date: Wed, 05 Aug 2020 10:20 AM (IST)

कश्मीर में पहली बार तैनात 'राइफल वुमेन' का प्रभाव अभी तक सकारात्मक रहा है। यह कहना है असम राइफल्स का जिनकी सेना की कुछ महिला जवान सीमा पर तैनात हैं।

श्रीनगर (एएनआई)। असम राइफल्स ने कहा, 'कश्मीर में पहली बार ड्यूटी पर तैनात 'राइफल महिला' कुछ दिनों के भीतर स्थानीय आबादी पर सकारात्मक प्रभाव डालने में कामयाब रही है।'

स्थानीय लोगों का जीता दिल
असम राइफल्स ने ट्वीट किया, "कश्मीर में पहली बार तैनात #AssamRifles की महिला सैनिकों ने स्थानीय आबादी पर सकारात्मक प्रभाव डाला है। स्थानीय लोगों का मुस्कुराना असम राइफल्स के राइफल वुमेन के प्रोफेशनलिज्म का सबूत है।" बता दें 'राइफल महिला' असम राइफल्स की एक इकाई है, जो भारत की सबसे पुरानी अर्धसैनिक बल है।

Women soldiers of #AssamRifles deployed for the first time in Kashmir make a positive impact on the local populace in a matter of days. Smiling faces of locals is a testimony of professionalism of the Riflewomen of Assam Rifles. @SpokespersonMoD @PIBHomeAffairs @ANI pic.twitter.com/fW6Lx71y7p

— The Assam Rifles (@official_dgar) August 4, 2020

सोशल मीडिया पर सामने आई और तस्वीरें
असम राइफल्स ने अपने आधिकारिक टि्वटर अकाउंट पर हाथ में बंदूक लिए कुछ महिला सैनिकों की तस्वीरें भी पोस्ट की हैं। इनके साथ कुछ स्थानीय महिला और पुरुष हैं जिन्हें 'राइफल वुमेन' से डर नहीं बल्कि सुरक्षा का भाव नजर आता है। इस बात की गवाह उनकी तस्वीरें भी हैं। जिसमें एक महिला मुस्कुराते हुए एक महिला सैनिक से कुछ बात कर रही है। वहीं दूसरी तस्वीर में एक पुरुष चियर अप करते नजर आ रहा।

Posted By: Abhishek Kumar Tiwari
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.