सुशासन दिवस के रूप में मनेगा पूर्व पीएम अटल का जन्मदिन पूरे प्रदेश में लगेंगे स्वास्थ्य शिविर

2018-12-22T10:11:38Z

आगामी 25 दिसंबर को पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की जयंती को सुशासन दिवस के रूप में मनाया जाएगा। इसके लिए तैयारियां तेजी चल रही हैं।

lucknow@inext.co.in
LUCKNOW: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आगामी 25 दिसंबर को पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की जयंती को सुशासन दिवस के रूप में आयोजित किए जाने के लिए आवश्यक तैयारियां करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपेई ने देश में सुशासन की आधारशिला रखी थी इसलिए उनके सम्मान में उनकी जयंती पूरे देश में सुशासन दिवस के रूप में मनायी जाती है। उन्होंने कहा कि इस अवसर पर आयोजित होने वाले कार्यक्रमों के माध्यम से अधिक से अधिक पात्र जरूरतमंदों को सरकार की जनकल्याणकारी एवं लाभार्थीपरक योजनाओं से लाभांवित किया जाए।

लखनऊ में होंगे विशेष कार्यक्रम

उन्होंने 25 दिसंबर को प्रदेश के सभी विकास खंडों में सुशासन दिवस पर वृद्धावस्था, निराश्रित विधवा तथा दिव्यांग पेंशन के विशेष शिविर के माध्यम से राशन कार्ड वितरण करने तथा आयुष्मान भारत योजना के लिए चयनित लाभार्थियों के कार्डों का वितरण करने के निर्देश दिए। साथ ही प्रत्येक पीएचसी, सीएचसी तथा जिला चिकित्सालय में एनएचएम के शिविर आयोजित करने, 24 दिसंबर को विद्यालयों में अटल बिहारी वाजपेयी के व्यक्तित्व एवं कृतित्व पर विशेष कार्यक्रम आयोजित करने के निर्देश भी दिए। उन्होंने कहा कि सुशासन दिवस पर सुबह 9:30 बजे मुख्य कार्यक्रम लखनऊ में आयोजित किया जाएगा।
राष्ट्रीय कवि सम्मेलन होगा
मालूम हो कि राजधानी में अटल बिहारी वाजपेयी साइंटिफिक कंवेंशन सेंटर में महानाटक 'राष्ट्र पुरुष अटल' का मंचन होगा। इसमें लगभग 250 कलाकारों की भागीदारी होगी। वहीं 26 दिसंबर को कंवेंशन सेंटर में राष्ट्रीय कवि सम्मेलन आयोजित होगा। इसके अलावा संस्कृति विभाग द्वारा उच्च शिक्षा तथा माध्यमिक शिक्षा विभाग के सहयोग से 24 व 25 दिसंबर को प्रदेश के सभी माध्यमिक स्कूलों एवं विश्वविद्यालयों में भाषण, वाद-विवाद प्रतियोगिताओं तथा कविता पाठ का आयोजन होगा। राज्य ललित कला अकादमी में चित्रकार शिविर एवं प्रदर्शनी संगीत नाटक अकादमी द्वारा तीन दिवसीय कार्यक्रम में पद्मविभूषण सोनल मान सिंह की प्रस्तुति तथा भारतेन्दु नाट्य अकादमी द्वारा नाट्य प्रस्तुति की जाएंगी।

संसद के सेंट्रल हॉल में लगेगा पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी का पोर्ट्रेट

अटल के नाम पर योजनाओं की मची होड़


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.