तो घोड़ी से उतार दिया जाएगा दूल्हा

2019-11-07T06:00:09Z

- शहर के प्रमुख मार्गो पर नहीं चढ़ सकेगी बारात

आगरा। अगर आप शहर के प्रमुख मार्गो पर बारात की चढ़ाई की तैयार कर रहे हैं, तो सावधान हो जाएं। क्योंकि प्रशासन ने आपकी बारात में खलल डालने की पूरी योजना तैयार कर ली है। आपको महज 100 मीटर तक ही बारात चढ़ाई (भ्रमण) की अनुमति दी जाएगी। अन्यथा की स्थिति में दूल्हा को घोड़ी से उतार दिया जाएगा।

आठ से शुरू हो रहा है सहालग

आठ नवम्बर का देवोत्थान है। इसके साथ ही शादी-विवाह शुरू हो जाएंगे। शहर में धारा 144 लागू है। इसके साथ ही शहर के करीब आधा दर्जन ऐसे मार्ग हैं, जो अक्सर जाम से जूझते रहते हैं। ऐसे में अगर इन मार्गो पर बारात चढ़ाई होगी, तो हालात बेकाबू हो जाएंगे। अब तक के अनुभव के अनुसार लोग सहालग के दौरान फतेहाबाद रोड, एमजी रोड पर कई-कई घंटे जाम में फंसे रहते हैं। ऐसी स्थिति पैदा न हो इसके लिए पुलिस और प्रशासन हरकत में आ गया है। अपर जिलाधिकारी प्रभाकांत अवस्थी ने संबंधित अपर नगर मजिस्ट्रेटों को निर्देश दिए हैं कि चिह्नित मार्गो पर अगर प्रतिबंध के बाद भी बारात चढ़ाई की जा रही है तो दूल्हे को घोड़ी से उतारा जा सकता है। इसके अलावा अन्य कानूनी कार्रवाई अमल में लाई जा सकती है।

फतेहाबाद रोड पर बारात भ्रमण नहीं कर पाएगी

फतेहाबाद रोड काफी व्यस्त मार्ग है। इस रोड पर सर्वाधिक होटल और मैरिज होम हैं। अधिकांश शहर की बड़ी शादी इसी रोड पर किसी न किसी होटल और मैरिज होम में होती हैं। इसके लिए अनुमति लेनी होगी। प्रशासन बारात की अनुमति उसी स्थिति में देगा, जब पुलिस की रिपोर्ट आ सकेगी। होटल के अंदर तय समय सीमा में ढोल नगाडे़ बजाकर कार्यक्रम कर सकते हैं। नियमों का पालन न करने पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

थिरकते हैं बाराती, होता है मार्ग जाम

थिरकने में मशगूल बाराती अक्सर ये भूल जाते हैं कि जिस मार्ग से वह गुजर रहे हैं, उनके चलते वहां जाम की स्थिति बन गई है। इस कारण से बारात अपने स्थान तक पहुंचने में काफी लेट हो जाती है। जिसके कारण मार्ग के हालात खराब हो जाते हैं। ऐसे लोगों पर भी पुलिस प्रशासन की नजर होगी। इसके साथ ही बैंडबाजों को जब्त किया जा सकता है। बारात पक्ष के मुखिया के विरुद्ध भी कार्रवाई संभव है।

डीजे की लेनी होगी अनुमति

अगर आपको डीजे बजाना है, तो इसकी अनुमति लेनी होगी। रात 10 बजे के बाद डीजे बजाया नहीं जा सकेगा। अगर ऐसा होता है तो कार्रवाई की जाएगी। रात 10 बजे के बाद डीजे, प्रतिबंधित क्षेत्रों में बारात चढ़ाई से लेकर अन्य कानूनों का पालन कराए जाने की जिम्मेदारी अपर जिलाधिकारी नगर डॉ। प्रभाकांत अवस्थी ने संबंधित अपर नगर मजिस्ट्रेटों को जिम्मेदारी सौंपी है।

Posted By: Inextlive

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.