Celeb’s Favourite May Not Be Good For You

2011-02-19T00:00:00Z

Do not follow celebrity for physical fitness without knowing pros & cons of their diet plan

(1) Blood group diet
खाने और blood group के बीच एक केमिकल रिएक्शन होता है. ये रिएक्शन खाने में पाए जाने वाले लेक्टिन नाम के प्रोटीन की वजह से होता है. लेक्टिन प्रोटीन वाला फूड आपके ब्लड एंटिजन से कम्पैटिबल ना हो तो बॉडी सेल्स डैमेज होने लगते हैं इसलिए हर ब्लड ग्रुप के अकॉर्डिंग डिजाइन की गई diet बेहतर रिजल्ट्स देती है. ये है blood group diet का सेंट्रल आइडिया जिसे डिजाइन किया था डॉक्टर पीटर डी एड्मो ने.

hollywood actress Demi Moore ने काफी टाइम तक ये डाइट ट्राई किया है.
इसमें हर blood group के लिए अलग डाइट डिफाइन की गई है. जैसे o blood group के लोगों को मीट, फिश, नट्स लेने चाहिए और डेयरी प्रोडक्ट अवॉइड करने चाहिए. ए ग्रुप के लोगों को वेजिटेबल्स, बीन्स और सीरियल्स लेने चाहिए और मीट और dairy products अवॉइड करने चाहिए.
B group के लोगों को मीट, वेजिटेबल्स और dairy products लेने चाहिए लेकिन ग्रेन्स, चना और राजमा नहीं खाना चाहिए.
Doctor says: डॉक्टर कुणाल सहाय इस डाइट से पूरी तरह इत्तेफाक नहीं रखते. उनका कहना है,, ‘बॉडी की न्यूट्रिशन रिक्वॉयरमेंट अलग-अलग वैराइटी के फूड से पूरी होती है. एक रुटीन फॉलो करने से न्यूट्रिशन नीड पूरी नहीं होती है.’
(2) 5 Factor diet
इस डाइट का फंडा 5 meal a day पर बेस्ड है. ये diet plan सेलेब ट्रेनर हार्ले पैटरनेक ने प्लान किया है. वेट लॉस के लिए ये diet plan अच्छा माना जाता है लेकिन इसके साथ कम से कम आधे घंटे वर्कआउट करना जरूरी है. हर मील लो फैट होता है, प्रोटीन के लिए चिकन या फिश ले सकते हैं. बॉडी की काब्रोहाइड्रेड की रिक्वॉयरमेंट पूरी करने के लिए होल ग्रेन ले सकते हैं. फ्रूट और वेजिटेबल्स भी ले सकते हैं लेकिन बटर के बजाय ऑलिव ऑयल यूज करें. ये दूसरे diet plan की तरह स्ट्रिक्ट नहीं है. इसमें पांच दिन तक diet plan फॉलो करने के बाद एक दिन अपनी पसंद की डिश इंज्वॉय कर सकते हैं. शुगर को टोटली अवॉइड करना होता है. ये डाइट Jessica Simpson की फेवरिट है.
Doctor says: डॉक्टर कुणाल सहाय का कहना है कि एकदम से वेट लॉस करने के लिए स्क्ट्रिक्ट डाइट फॉलो करने की जरूरत नहीं है. आप रेग्युलर एक्सरसाइज के साथ balanced diet लीजिए.
(3)Macrobiotic diet
ये लो फैट और हाई फाइबर डाइट प्लान है. इस diet plan में dairy products, मीट और शुगर को अवॉइड किया जाता है. कुकिंग मीडियम के तौर पर डार्क सीसेम ऑयल का यूज किया जाता है. ग्रेन्स में आप ब्राउन राइस, व्हीट बार्ले, कॉर्न और होल ग्रेन यूज कर सकते हैं. वन थर्ड वेजिटेबल्स रॉ खानी होती हैं. वेजिटेबल्स को आप ब्वॉयल, बेक या स्टीम कर सकते हैं. एप्पल, पियर, पीच वीक में कई बार खा सकते हैं लेकिन ट्रॉपिकल फ्रूट जैसे आम, पाइनएप्पल को अवॉइड किया जाता है. फूड फ्रेशली प्रिपेयर्ड होना चाहिए और धीरे खाया जाना चाहिए. इस डाइट की स्ट्रिक्ट फॉलोअर हैं Madonna, जो फ्लाइट में भी अपने साथ अपने शेफ को लेकर जाती हैं जिससे वह उनके लिए स्पेशल फूड तैयार कर सके.
Grain: 50%
Soya bean Soup 5%
Vegetable: 25 to 30%
Beans: 10%
Non veg: Occasionally and only fish allowed

Doctor says:ये भी बैलेंस्ड डाइट प्लान नहीं है. फ्रूट्स आपको डेली लेने चाहिए. ये वेट लॉस करने का हेल्दी तरीका नहीं है और न ही आप इस रुटीन को लम्बे समय तक फॉलो कर सकते हैं.
(4)Baby food diet
इस डाइट का कांसेप्ट baby food पर बेस्ड है. बेबी को जो मैश्ड बनाना या पोटैटो खिलाते हैं उसे बेबी फूड कहते हैं. बेबी फूड में विटमिन और सोडियम काफी अमाउंट में होता है. वेट लॉस और ज्यादा यंग दिखने के लिए हॉलीवुड सेलेब इस डाइट पर रहते हैं. बेबी फूड में पाए जाने वाले प्रोटीन से भूख मर जाती है और इससे वेट नहीं बढ़ता है. इसे चबाना भी नहीं पड़ता है. Jennifer aniston इसे फॉलो करती हैं.
Doctor says:Baby food 6 से 13 केजी के बच्चों की नीड पूरी करते हैं. उनके फूड की प्रोटीन रिक्वॉयरमेंट भी वेट पर बेस्ड होती है. बेबी फूड एडल्ट की प्रोटीन रिक्वायरमेंट को पूरा नहीं करता है. इस डाइट को लेने से वेट लॉस तो जल्दी होगा लेकिन आपको हेयर लॉस, पुअर इम्यूनिटी की प्रॉब्लम हो सकती है. प्रोटीन की कमी का असर हॉरमोन्स और दांतों पर भी पड़ता है.
Go for a balanced diet
Celebrities  की डाइट से फैसिनेट होकर उनका डाइट चार्ट फॉलो ना करें. वे लोग डाइट के सिवा और कई एडिशनल चीजें भी लेते हैं जिससे बॉडी की रिक्वॉयर्मेंट्स पूरी होती रहती है.
1. सिर्फ फ्रूट डाइट काम की नहीं!
सिर्फ फ्रूट्स लेने से कार्बोहाइड्रेट और फैट की रिक्वॉयरमेंट पूरी नहीं होती है. आप जल्दी थकान महसूस करने लगेंगे.
2. फैट के चक्कर में dairy products अवॉइड करना.
डेयरी आइटम में कैल्शियम होता है इन्हें अवॉइड करें तो दूसरे सोर्सेज से इनकी रिक्वॉयर्मेंट पूरी करें.
3. ग्रेन्स अवॉइड करना.
ग्रेंस में न्यूट्रिशन के साथ ही रिच क्वांटिटी फाइबर होते हैं. इन्हें छोडऩे से आपके डाइजेशन सिस्टम पर बुरा असर पड़ सकता है.



This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.