Diwali 2019 साफसफाई के बाद वास्‍तु के अनुसार सजाएं घर जानें किस दिशा में क्या रखने से मिलेगा लाभ

2019-10-25T15:00:03Z

दीपावली के आते ही सभी लोग अपनेअपने घरों की साफ सफाई शुरू कर देते हैं और सजाने की ओर ध्यान देने लगते हैं। फिलहाल यहां जानें वास्तु के मुताबिक कैसे सजाएं घर

कई बार हम अज्ञनता में घर की वस्तुओं की जगह से जो छेड़छाड़ करते हैं उससे घर में किसी न किसी प्रकार की बाधाएं और समस्याओं का जन्म होता है। यहां जानें वास्तु के हिसाब से किस तरह सजाएं घर...
1. साफ-सफाई में संपूर्ण ध्यान दिया जाता है लेकिन घर के पीछे बनी गली व छत पर नहीं। जबकि यह भी साफ-सफाई में महत्वपूर्ण स्थान रखती है।

2. यदि आप ड्राइंग रूम में कुछ परिवर्तन कर रहे हैं तो भारी सामान उत्तर या पूर्व दिशा में नहीं रखें। उसे दक्षिण या फिर पश्चिम की दीवार से लगा कर रखना शुभ होता है।
3. यदि आप टीवी लाए हों या पुराने टीवी को ही सही जगह रखना है तो इसे उत्तर की ओर ही लगाएं। दरअसल टीवी देखते समय आप का मुख उत्तर या पूर्व दिशा की ओर होना चाहिए।
4. बुक सेल्फ, अलमारी अथवा अन्य वजनी सामान दक्षिण दिशा या फिर पश्चिम की दीवार से लगा कर रखना शुभ होता है। इससे घर में समृद्धी आएगी।
5. ड्राइंग रूम में व बच्चों के कमरे में हल्के रंग के पर्दे लगाना शुभ है। वहीं दीवार पर चटकदार लाल, नीला अथवा अन्य कोई गहरा कलर लगाएं।  
6. यदि आप का घर पूर्वमुखी है या उत्तरमुखी है तो उस दिशा को स्वच्छ रखें। दक्षिण या पश्चिम में है तो उस दिशा के कमरों को साफ-सुथरा और सजा कर रखना चाहिए।
7. यदि आप घर की मरम्मत करवा रहे हैं तो ध्यान दें कि घर में कोई भी मशीनरी बंद अवस्था में न पड़ी हो। उसे तुरंत इस्तेमाल में लाएं या फिर किसी के जरूरत की हो तो उसको दे दें।
8. यदि घर सजाने के लिए पुष्प लगा रहे हैं तो कैक्टस का पैधा नहीं लगाना चाहिए। पुष्पों के गमले लगाना ठीक होता है। पुष्प अगर सुगन्धित है तो उसे घर की खिड़कियों के आसपास ही लगाएं।
9. दीवाली पर रसोई घर में भी काफी समय व्यतीत होता है। रसोई में टूटे-फूटे कप-प्लेट या टूटी हुई क्राॅकरी हो तो उसे हटा दें। सिंक, स्लैव आदि की सफाई में इस्तेमाल होने वाला पोछा आदि लोगों की आंखों के सामने नहीं आना चाहिए। ये चीजें घर में आने वाले मेहमान को दिखाई न पड़ें तो अच्छा है।
10. बाथरूम, सिंक, गार्डेन आदि के नल में पानी न टपके। इसके लिए वास्तु ठीक कराएं अन्यथा धन की हानि का सामाना करना पड़ सकता है। घर की आर्थिक स्थिति बिगड़ सकती है।
11. घाट में मकाई के बाद बची हुई अनावश्क वस्तुएं यथा पुराने कपड़े, अखबार, कबाड़, पुराने डिब्बे इत्यादि संग्रह नहीं करना चाहिए। इसके अलावा इन वस्तुओं को कबाड़ी को दान भी कर सकते हैं।
12. घर में फर्नीचर एवं दरवाजे और खिड़कियों का रंग फीका हो गया हो अथवा उतर गया हो तो उसे यथा संभव नए रंग से रंग दें। ऐसा न करने पर घर में नकारात्मक ऊर्जा का जन्म होगा।
-पंडित दीपक पांडेय


Posted By: Vandana Sharma

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.