छात्रा और किशोरी से गैंगरेप

2014-07-20T07:00:53Z

-बारा और बहरिया में हुई सनसनीखेज घटना

-कक्षा छह में पढ़ती है छात्रा, विद्यालय के बाहर से किया अपहरण

BARA/BAHERIYA (19 July, JNN): शनिवार को सामने आए गैंगरेप के दो मामलों ने एक बार फिर सनसनी फैला दी है। इस मामले में गैंग रेप की शिकार छात्रा बनी है तो दूसरे मामले में युवती है। आश्चर्यजनक रूप से एक मामले में दो महिलाओं को भी गैंग रेप में सहयोगी बनाया गया है। दोनों मामलों में रिपोर्ट दर्ज कराने के लिए तहरीर पुलिस को दे दी गई है। बहरिया में तो पुलिस ने हद ही कर दी। इंस्पेक्टर ने आरोपियों पर कार्रवाई की जगह आरोपी से शादी करने का परिजनों पर दबाव बनाया।

कक्षा छह की छात्रा

बारा थाना क्षेत्र में भेलांव गांव की रहने वाली किशोरी लोहगरा स्थित विद्यालय में कक्षा छह की छात्रा है। क्म् जुलाई को वह विद्यालय गई थी। लंच के समय किसी काम से बाहर निकली तो गांव के अमरनाथ चौधरी, बब्लू व मोतीलाल उर्फ छोटू निवासी चिकानटोला वार्ड नंबर एक नगर पंचायत शंकरगढ़ बाइक से पहुंचे और छात्रा को अगवा कर लिया। जानकारी होते ही छात्रा के परिजनों ने बारा पुलिस को प्रार्थना पत्र दिया, लेकिन पुलिस ने एफआइआर दर्ज करने के बजाए परिजनों को लौटा दिया। दूसरे दिन दबाव बढ़ने पर एनसीआर लिखी गई। उधर, तीनों युवक छात्रा को शंकरगढ़ के गाढ़ा कटरा गांव स्थित एक मकान में ले गए और बंधक बनाकर तक दुराचार किया। विरोध करने पर छात्रा की पिटाई भी की गई। शुक्रवार को बारा पुलिस आरोपी अमरनाथ के घर पहुंची, लेकिन वह नहीं मिला। पुलिस की दबिश से घबराए अमरनाथ चौधरी ने रात में बारा थाना प्रभारी दिनेश प्रकाश यादव को फोन पर सूचना दी और मौके पर बुलाया। इसके बाद बारा पुलिस ने शंकरगढ़ पुलिस की मदद से गाढ़ा कटरा गांव में दबिश देकर छात्रा को अपने कब्जे में ले लिया। आरोपी बबलू भी मौके से गिरफ्तार हो गया। अमरनाथ व छोटू पुलिस के हाथ नहीं लगे। थाना प्रभारी (बारा) दिनेश यादव ने इस मामले में कुछ भी कहने से इंकार कर दिया।

यहां की कहानी थोड़ी इतर

बहरिया थाना क्षेत्र के चिलराय गांव के एक युवक ने फ्राइडे लेट नाइट कंट्रोल रूम में फोन कर जानकारी दी कि अहिराई गांव निवासी स्व। रामबरन के परिवार के लोग उसके घर पर उसकी हत्या करने चढ़ आए हैं। उसके घर में आग लगा दी और उसकी साली को अगवा कर ले गए हैं। राहुल, सुधीर, सुभाष, राजेश, नवनीत, गोलू ने उसकी साली के साथ दुराचार किया। इसमें आरोपियों के घर की दो महिलाएं भी शामिल हैं। उसकी साली को घर से करीब भ्0 मीटर दूर पेड़ में बांध दिया गया है। सूचना पाते ही पुलिस मौके पर पहुंची। पता चला कि युवक अपनी साली को स्थानीय सरकारी अस्पताल ले गया है। पुलिस अस्पताल पहुंची और पूछताछ की। शनिवार सुबह युवक ने पुलिस को तहरीर दी। पुलिस रिपोर्ट दर्ज करने की तैयारी कर रही थी कि युवक ने दर्जनों लोगों के साथ बकसेड़ा तिराहे पर रास्ता जाम कर दिया। पुलिस-प्रशासन के अधिकारियों के खिलाफ नारेबाजी शुरू कर दी। जानकारी पाकर सीओ अलका धर्मराज, इंस्पेक्टर अब्दुल सत्तार मौके पर पहुंचे और बताया कि रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है, जिस पर लोग सड़क से हटे।


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.