अर्जुन अवार्ड के लिए BCCI भेज सकता है बुमराह का नाम, शिखर धवन भी हो सकते हैं लिस्ट में

2020-05-14T08:41:36Z

इस साल के अर्जुन अवार्ड के लिए बीसीसीआई तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह के नाम पर विचार कर रहा है। यही नहीं इस रेस में शिखर धवन भी बने हुए हैं जो बुमराह से सीनियर हैं।

नई दिल्ली (पीटीआई)। भारत के तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह जो 2019 में रवींद्र जडेजा के चलते अर्जुन पुरस्कार लेने से चूक गए थे। उन्हें इस साल बीसीसीआई की तरफ से नॉमिनेट किया जा सकता है। बीसीसीआई के पदाधिकारियों को इस महीने के अंत में पुरुष और महिला वर्ग के लिए नामांकन में शून्य की उम्मीद है, लेकिन पिछले चार वर्षों में गुजरात पेसर का शानदार प्रदर्शन उन्हें सबसे योग्य उम्मीदवार बनाता है। अगर बीसीसीआई पुरुष वर्ग में कई नाम भेजने का फैसला करता है, तो सीनियर सलामी बल्लेबाज शिखर धवन भी लिस्ट में शामिल हो सकते हैं।

पिछले साल इसलिए नहीं मिला था बुमराह को अवार्ड

बीसीसीआई के एक सूत्र ने बताया, "पिछले साल हमने पुरुषों के सेक्शन में तीन नाम भेजे थे - बुमराह, रवींद्र जडेजा और मोहम्मद शमी।" उस वक्त बुमराह को लिस्ट से बाहर होना पड़ा क्योंकि उन्होंने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में केवल दो साल पूरे किए थे जबकि अर्जुन पुरस्कार के लिए खिलाड़ी को उच्चतम स्तर पर कम से कम तीन साल के प्रदर्शन की आवश्यकता होती है। सूत्र ने कहा, "इसलिए पिछले साल अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के तीन साल पूरे करने वाले बुमराह, जडेजा से चूक गए, जो कई वर्षों से लगातार अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं।"

बुमराह ने बनाए हैं कई रिकॉर्ड

26 वर्षीय तेज गेंदबाज ने 14 टेस्ट में 68 विकेट, 64 एकदिवसीय मैचों में 104 विकेट और 50 टी 20 आई से 59 विकेट हासिल किए। सूत्र की मानें तो, "बुमराह इस अवार्ड के हकदार हैं। वह आईसीसी के नंबर 1 रैंक के एकदिवसीय गेंदबाज रहे। दक्षिण अफ्रीका, इंग्लैंड, ऑस्ट्रेलिया और वेस्टइंडीज में पांच विकेट लेने वाले वह एकमात्र एशियाई गेंदबाज हैं।"

शमी को अवार्ड मिलना मुश्किल

इस बात की बहुत अधिक संभावना नहीं है कि बीसीसीआई इस बार मोहम्मद शमी का नाम भेजेगा क्योंकि उनके खिलाफ पत्नी द्वारा घरेलू हिंसा और व्यभिचार का आरोप लगाते हुए पुलिस मामला दर्ज किया गया है जिसका मतलब है कि वह पात्र नहीं होगें। धवन के मामले में, उनकी वरिष्ठता उनके सभी समकालीनों (विराट कोहली, रविचंद्रन अश्विन, रोहित शर्मा, अजिंक्य रहाणे, चेतेश्वर पुजारा और जडेजा) के लिए एक कारक है। हालांकि, धवन कई चोटों को बरकरार रखने के बाद पिछले साल काफी समय तक एक्शन से बाहर रहे।

धवन का नाम भेज सकता है बोर्ड

बीसीसीआई के एक पूर्व पदाधिकारी ने कहा कि धवन की वरिष्ठता को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता है। उन्होंने कहा, "2018 में, हमने नामांकन के लिए धवन का नाम भेजा था, लेकिन केवल स्मृति (मंधाना) को पुरस्कार मिला। इसलिए बीसीसीआई बुमराह और धवन दोनों के नाम भेज सकती है।'

Posted By: Abhishek Kumar Tiwari

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.