करानी है टैंक की सफाई तो मुंहमांगी कीमत दो भाई

Updated Date: Tue, 07 Jul 2020 08:36 AM (IST)

रांची: करप्शन हर क्षेत्र में अपना पांव फैलाए हुए है। किसी भी तरह का काम कराने के लिए दो रास्ते बने हुए हैं। एक जो लीगल तरीके से होकर गुजरता है और दूसरा जो करप्शन से होकर गुजरता है। राजधानी रांची में दूसरा रास्ता काफी पॉपुलर है। यहां लाइसेंस बनाने से लेकर बर्थ-डेथ सर्टिफिकेट, राशन कार्ड समेत अन्य किसी भी तरह का काम करने के लिए आपके पास करप्शन वाला रास्ता सहज ही उपलब्ध हो जाएगा। नगर निगम का ऑफिस तो करप्शन का अड्डा बना हुआ है। यहां नक्शा से लेकर हर काम में करप्शन का बोलबाला है। नगर निगम का ही एक काम है सेप्टिक टैंक की सफाई कराना। नगर निगम इसके एवज में कुछ शुल्क लेता है और टैंक की सफाई करा देता है। लेकिन यहां भी करप्शन हावी है। कस्टमर बनकर हम बकरी बाजार स्थित नगर निगम के स्टोर पर गए, जहां सेप्टिक टैंक की सफाई का जिक्र करते ही इससे जुडे़ बिचौलियों ने आकर घेर लिया।

4500 रुपए दो, एक दिन में साफ होगा

स्टोर में मौजूद बिचौलियों ने एक दिन में टैंक सफाई कराने की बात कही। उनलोगों ने कहा कि नगर निगम में जाने से समय ज्यादा लगेगा। प्राइवेट में कराने से एक दिन में टैंक साफ कर दिया जाएगा। कुछ पैसा ज्यादा लगेगा लेकिन काम बेहतर होगा। उन्हीं में से एक बिचौलिया ने जगह दिखाने की बात कही। बिचौलिया ने कहा कि जगह देख लेंगे बड़ी गाडी ले जाना होगा या छोटी गाड़ी से काम चल जाएगा। इसके अलावा टैंक भी देखना होगा, कैसे सफाई करनी है। टैंक देखने के बाद ही पता चलेगा। इतना कहकर तीन-चार बिचौलिया मेरे(रिपोर्टर) के साथ टंकी देखने चल पडे़। बिचौलियों ने नगर निगम का लोगो लगा विजिटिंग कार्ड भी बनवा रखा है।

रसीद कटाने की जरूरत नहीं

इन बिचौलियों ने बताया कि नगर निगम से सफाई कराने पर बहुत परेशानी है। वो बार-बार दौड़ाएगा। एक काउंटर से दूसरे काउंटर में दौड़ते रहिए। हमलोग से कराने में परेशान नहीं उठानी पड़ेगी। कोई रसीद कटाने की जरूरत नहीं है, न ही ज्यादा समय लगेगा। सिर्फ जगह दिखा दीजिए। एक से दो दिन में टैंक साफ कर दिया जाएगा। हमलोगों के पास सभी साधन है। कुछ पैसा अधिक लगता है लेकिन हमलोग काम एक नंबर करके देंगे। नगर निगम के चक्कर में रहिएगा तो कब साफ होगा, इसका कोई गारंटी नहीं है। नगर निगम से जो जाता है वो लोग जैसे-तैसे साफ करेगा और खर्चा-पानी भी मांगेगा।

बिचौलिया से डीजे आईनेक्स्ट की सीधी बातचीत

रिपोटर्र : यहां पर टैंक सफाई करने वाले कहां मिलेंगे?

बिचौलिया : बोलिए न, क्या काम है, हम ही लोग हैं।

रिपोटर्र : मुझे सेप्टिक टैंक साफ करवाना है, किससे मिलना होगा?

बिचौलिया : हम ही लोग साफ करते हैं। बताईए, कहां पर साफ करवाना है। साइड दिखा दीजिए।

रिपोटर्र : कुछ रसीद भी कटवाना होगा क्या?

बिचौलिया : वो सब छोडि़ए, हम लोग देख लेंगे। आपको टेंशन नहीं लेना है। आप सिर्फ एड्रेस बताइए।

रिपोटर्र : पैसा कितना लगेगा?

बिचौलिया : बड़ी गाड़ी जाएगी तो एक बार का 4500 रुपए लगेगा। बाकी बात साइड देखने के बाद समझा देंगे। ये रखिए फोन नंबर फोन कीजिएगा। अभी चलिए, साइड देख लेते हैं।

रिपोटर्र : कोई दिक्कत तो नहीं होगी न?

बिचौलिया : कुछ नहीं होगा, यह हमलोग का एक दिन का काम नहीं है, डेली हमलोग यही काम करते हैं।

क्या है नियम

सैप्टिक टैंक की सफाई कराने के लिए नगर निगम ऑफिस के स्वास्थ्य शाखा में संपर्क करना होता है। यहां एक फॉरमेट उपलब्ध कराया जाता है, जिसे भरकर नगर निगम के कैश कांउटर में जाकर पैसे डिपॉजिट करने पड़ते हैं। नगर निगम द्वारा निर्धारित शुल्क घर के लिए 1250 रुपए और अपार्टमेंट के लिए 2500 रुपए है। कैश कांउटर में डिपॉजिट करने के बाद एक स्लीप मिलता है, जिसमें टैंक सफाई की अनुमानित तिथि, गाड़ी नंबर और ड्राइवर का फोन नंबर लिखा होता है। दो से चार दिन के दिन अंदर टैंक की सफाई करा दी जाती है।

ऐसी कम्पलेन पहले भी आई है। हमने थाना को इसकी शिकायत की है। बल्कि एसपी को भी एक पत्र भेजा गया है। नगर निगम ने किसी बाहरी लोग को कोई परमिशन नहीं दिया है। यदि ऐसी कुछ आपको जानकारी मिलती है, तो एक वीडियो बनाकर उपलब्ध कराएं।

-डॉ किरण, स्वास्थ्य शाखा पदाधिकारी, रांची नगर निगम

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.