जज्‍बा! रेलवे स्‍टेशन के फ्री WiFi से पढ़ाई करके इस कुली ने पास कर लिया सिविल सर्विसेज रिटेन एग्‍जाम

2018-05-10T18:54:35Z

कहते हैं ना कि कुछ करने का जज्‍बा हो तो पूरी कायनात आपकी मदद के लिए तैयार हो जाती है। यह बात केरल के एक रेलवे कुली ने पूरी तरह सच साबित कर दी है। इनकी कहानी सुनकर हम आप सभी को कुछ कर गुजरने की प्रेरणा मिलती है।

नई दिल्ली (PTI) सिविल सर्विसेज की तैयारी करने वाले ज्यादातर लोग ढेर सारी किताबों के बोझ तले दबे नजर आते हैं, लेकिन केरल के श्रीनाथ तो किताब नहीं बल्कि रेलवे स्टेशन पर बड़े बड़े सूटकेस सिर पर लादे नजर आते हैं। जी हां वो एर्नाकुलम जंक्शन पर एक कुली हैं और पिछले 5 सालों से यात्रियों का भारी सामान उठाकर अपनी अजीविका कमा रहे हैं। पर उनकी कहानी में एक खास बात है कि उन्होंने ढेरों किताबों नहीं बल्कि रेलवे स्टेशन पर मिलने वाले फ्री वाईफाई की मदद से केरल एडमिनिस्ट्रेटिव सर्विस का रिटेन एग्जाम पास कर लिया है। उनकी यह उपलब्धि पढ़ाई के उस जज्बे का कमाल है, जो यूं ही देखने को नहीं मिलती।


फोन
-ईयरफोन और रेलवे वाईफाई की जुगलबंदी से श्रीनाथ ने फैलाए अपने सपनों के पंख

श्रीनाथ ने पीटीआई को बताया कि वो सुबह से लेकर शाम तक जब यात्रियों का सामान सिर पर लादकर यहां से वहां जा रहे होते हैं तो उनका ध्यान उस आवाज पर होता है, जो उन्हें ईयरफोन पर उनका लेसन सुना रही होती है। कई तरह के डिजिटल कोर्सवर्क और ट्यूटोरियल को अपने स्मार्टफोन पर सुनकर वो उन्हें लर्न करते रहते हैं और काम के बाद जब उन्हें रात को मौका मिलता है तो वो लेसन फिर से दोहरा लेते हैं।

 

2016 में फ्री वाईफाई लॉन्च होने के बाद से कर रहे हैं ऐसे ही तैयारी

बता दें कि साल 2016 में सरकार द्वारा देश के तमाम रेलवे स्टेशनों पर जब फ्री वाईफाई की सुविधा शुरु की गई, उसके बाद से उनकी जिंदगी ही बदल गई। मेरे पास सिविल सर्विसेज की पढ़ाई के लिए किताबों और कोचिंग के पैसे नहीं थे। ऐसे में फ्री इंटरनेट ने पढ़ाई करने में उनकी काफी मदद की।

 

KPSC पास होने पर बनेंगे भूमि राजस्व विभाग में सहायक

अगर श्रीनाथ केरल पब्लिक सर्विस कमीशन का इंटरव्यू एग्जाम पास कर लेंगे तो वो भूमि राजस्व विभाग में सहायक के पद पर तैनात होंगे। हालांकि श्रीनाथ ने इसके अलावा कई रेलवे जॉब्स जैसे ट्रैकवेमैन, केबिनमैन, लीवरमैन, पॉइंटमैन, गैंगमैन आदि परीक्षाओं के लिए भी आवेदन कर रखा है और सभी के लिए अपनी पढ़ाई रेलवे वाईफाई द्वारा जारी किए हुए हैं। श्रीनाथ का कहना है कि फिलहाल मुझ पर घर चलोन के लिए कमाई का दबाव है, इसलिए मैं कुली का काम करते हुए लगातार अपनी पढ़ाई जारी रखूंगा।

यह भी पढ़ें:

हम गर्मी से बेहाल हैं और ऑस्ट्रेलिया वाले स्वेटर, रजाई निकाल रहे हैं! शुरु हो रही है बेमौसम की भीषण ठंड
नींद में देखेंगे सपने तो जिंदगी में होंगे ये 3 खूबसूरत बदलाव


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.