गलती कॉलेज की छात्र हुए परेशान

2018-03-23T11:00:53Z

छ्वन्रूस्॥श्वष्ठक्कक्त्र: कोल्हान यूनिवर्सिटी (केयू) की ओर से सीबीसीएस के तहत आयोजित ग्रेजुएशन फ‌र्स्ट सेमेस्टर की परीक्षा के पहले दिन गुरुवार को वर्कर्स कॉलेज के बीएससी आइटी के तीन छात्र परीक्षा में शामिल नहीं हो पाए। इनका परीक्षा केंद्र को-ऑपरेटिव कॉलेज था। छात्र अदीप इकबाल, समीर अनवर, तनमय कुमार कालिंदी का एडमिट कार्ड विश्वविद्यालय ने अपलोड ही नहीं किया। परीक्षा नियंत्रक डॉ। पीके पाणि ने बताया कि छात्रों को बीएससी आइटी की सीडी में नाम न देकर कॉलेज द्वारा बीबीए व बीसीए की सीडी में नाम डालने के कारण यह परेशानी हुई है। जिससे ये लोग परीक्षा देने से वंचित रह गये।

काट रहे थे चक्कर

छात्र सुबह से ही वर्कर्स कॉलेज का चक्कर काट रहे थे। कोवि छात्र आजसू अध्यक्ष हेमंत पाठक को जानकारी मिलने पर कॉलेज पहुंचे। कॉलेज प्रशासन की गलती छात्र क्यूं भुगतें? यह कहते हुए प्रिंसिपल का घेराव किया। वे परीक्षा से वंचित छात्रों के एडमिट कार्ड अपलोड करने और वशेष परीक्षा आयोजित कराने की मांग की। मामले को परीक्षा बोर्ड की बैठक में रखने, विशेष परीक्षा लेने और एडमिट कार्ड को अपलोड करने की हामी केयू द्वारा भरी गई। इसके बाद घेराव कार्यक्रम समाप्त हुआ। इस घेराव में हेमंत पाठक के अलावा पंकज गिरी, संगीत बनर्जी, रंजन प्रामाणिक, दीप सिंह, स्वाति कुमारी, जया, फिजा परवीन समेत दर्जनभर छात्र-छात्राएं मौजूद थे।

है चिंता की बात

बीएससी आइटी के छात्रों से एक सेमेस्टर का 32-32 हजार रुपया लिया जाता है। ऐसे में इनका भी एडमिट कार्ड न आना चिंताजनक है। छात्र आजसू के केयू प्रेसिडेंट हेमंत पाठक ने कहा कि इस तरह का मामला कोल्हान यूनिवर्सिटी की कार्यात्मक शैली पर प्रश्न चिन्ह उठाता है।

शामिल हुए 9100 स्टूडेंट्स

केयू के विभिन्न कॉलेजों में गुरुवार से स्नातक प्रथम सेमेस्टर की परीक्षा शुरू हुई। इसके लिए 19 केंद्र बने थे। परीक्षा में पहले दिन 9100 परीक्षार्थी उपस्थित व 19 परीक्षार्थी अनुपस्थित रहे। परीक्षा सुबह 9 बजे से 12 तक आयोजित हुई। पहले दिन ऑनर्स पेपर की कोर कोर्स-1 की परीक्षा थी। केयू के एग्जामिनेशन कंट्रोलर डॉ पीके पाणि ने बताया कि कहीं से कोई कदाचार की सूचना नहीं है। गुरुवार को उड़नदस्ते की टीम ने जेएलएन कॉलेज चक्रधरपुर, घाटशिला कॉलेज, बीडीएसएल महिला कॉलेज घाटशिला, एलबीएसएम कॉलेज, एबीएम कॉलेज गोलमुरी, सिंहभूम कॉलेज चांडिल, ग्रेजुएट कॉलेज, को-ऑपरेटिव कॉलेज तथा करीम सिटी कॉलेज पहुंची।

-परीक्षा में पूछे गए सवाल सिलेबस के अधीन थे। सभी सवाल आसान और उम्मीद के अनुसार ही प्रश्न पूछे गए थे। सारे प्रश्नों का हल किया गया।

- ज्योति, छात्रा, केसीसी

-भौतिकी में जो प्रश्न पूछे गए वह उम्मीद के अनुरूप ही था। सीबीसीएस के तहत यह परीक्षा पहली बार केयू ने लिया, लेकिन प्रश्नों को लेकर छात्र उलझे नहीं यह बड़ी बात है।

-शाहबाज, छात्र, केसीसी

Posted By: Inextlive

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.