Lok Sabha Election 2019 सातवें चरण में बागी दिखाएंगे अपना दम

2019-05-15T09:19:26Z

लोकसभा चुनाव का सातवां चरण सत्तारूढ़ दल के साथ विपक्ष की नींद उड़ाने वाला साबित हो रहा है। इस चरण के तहत आगामी 19 मई को मतदान होना है लिहाजा सभी दलों ने प्रचार में अपनी पूरी ताकत झोंक दी है।

lucknow@inext.co.in
LUCKNOW : लोकसभा चुनाव का सातवां चरण सत्तारूढ़ दल के साथ विपक्ष की नींद उड़ाने वाला साबित हो रहा है। इस चरण के तहत आगामी 19 मई को मतदान होना है लिहाजा सभी दलों ने प्रचार में अपनी पूरी ताकत झोंक दी है। भाजपा के सामने पहली चुनौती पीएम मोदी और सीएम योगी समेत सारी सीटों पर अपनी बादशाहत कायम रखने की है। पिछले लोकसभा चुनाव में भाजपा ने इन सारी सीटों पर फतह हासिल की थी हालांकि इस बार कई सीटों पर बागियों द्वारा बड़े नेताओं का खेल बिगडऩे की संभावना जताई जा रही है। खासतौर पर योगी सरकार में काबीना मंत्री ओमप्रकाश राजभर के बगावती तेवरों से भाजपा को नुकसान हो सकता है तो खुद सीएम के गढ़ गोरखपुर में भितरघात की संभावना से इंकार नहीं किया जा रहा है।


गोरखपुर में बचानी है साख

राजनीति के जानकारों की मानें तो पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी के मुकाबले सीएम योगी के गढ़ गोरखपुर में चुनावी लड़ाई ज्यादा रोचक होगी। गोरखपुर में भाजपा ने भोजपुरी एक्टर रविकिशन को टिकट दिया है और खुद सीएम योगी कई दिनों से गोरखपुर में डेरा डाले हुए है। हालांकि यहां पार्टी को भीतर से ही चुनौती मिलने की आशंका है। वहीं निषाद पार्टी में हुए उलटफेर की वजह से भी चुनाव में यदि कोई बड़ा उलटफेर देखने को मिल जाए तो हैरत की बात नहीं होगी। उपचुनाव में मिली हार की वजह से भाजपा हर सूरत में यह सीट दोबारा अपने कब्जे में करना चाहती है। इसके लिए पार्टी के वरिष्ठ नेताओं ने मंथन करना शुरू कर दिया है। इस सीट पर भाजपा की सफल रणनीति का असर आसपास की सीटों पर भी देखने को मिल सकता है।

वाराणसी बनेगा जंग का मैदान

पीएम मोदी को उनकी सीट वाराणसी में घेरने के लिए विपक्ष ने भी खास रणनीति बनाई है। जल्द ही कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाराणसी में रोड शो करने जा रही हैं तो खुद पीएम मोदी भी एक दिन के प्रवास पर वाराणसी आ सकते है। दरअसल मतदान के दिन पीएम के वाराणसी में मौजूद रहने से पार्टी को बाकी सीटों पर भी फायदा होने की उम्मीद है। वहीं गुरुवार को वाराणसी में गठबंधन की संयुक्त रैली भी है जिसमें अखिलेश यादव, मायावती और अजित सिंह मौजूद रहेंगे।
इन 13 सीटों पर होना है मतदान
राबट्र्सगंज, मिर्जापुर, वाराणसी, चंदौली, गाजीपुर, बलिया, सलेमपुर, घोसी, बांसगांव, देवरिया, गोरखपुर, महराजगंज, कुशीनगर।

इन नेताओं का भविष्य होगा तय

नरेंद्र मोदी, डॉ। महेंद्र नाथ पांडेय, अनुप्रिया पटेल, रमापति राम त्रिपाठी, मनोज सिन्हा, अफजाल अंसारी, तनुश्री त्रिपाठी, कमलेश पासवान, शिवकन्या कुशवाहा।



This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.